कोरोना से युद्ध में दूरदर्शन को रामायण का सहारा

कोविड-19 के प्रकोप से निपटने के लिए 21 दिनों के लिए देशव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर, लोक सेवा प्रसारक ने 80 के दशक के पौराणिक धारावाहिकों- ‘रामायण’ और 'महाभारत’ को फिर से प्रसारित करने का फैसला किया है। इन पौराणिक धारावाहिकों के पुन: प्रसारण के लिए सार्वजनिक रूप से मांग की गई थी।

0
412
दूरदर्शन पर पुराने लोकप्रिय धारावाहिक

लॉकडाउन के दौरान डीडी नेशनल और डीडी भारती पर अपने पुराने प्रतिष्ठित धारावाहिकों के फिर से प्रसारण के साथ, दूरदर्शन ने फिर से भारतीयों के दिल में राष्ट्रीय प्रसारक के रूप में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है।ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल इंडिया (बार्क) की हालिया रिपोर्ट के अनुसार दूरदर्शन ने पुराने क्लासिक कार्यक्रमों को प्रसारित करके लोगों को घर पर खुद को रखने में मदद करने का अपना उद्देश्य हासिल किया है। बार्क के मुताबिक रामायण के पुन: प्रसारण ने 2015 के बाद से एक हिंदी जीईसी शो के लिए उच्चतम रेटिंग हासिल की है।

कोविड-19 के प्रकोप से निपटने के लिए 21 दिनों के लिए देशव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर, लोक सेवा प्रसारक ने 80 के दशक के पौराणिक धारावाहिकों- ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ को फिर से प्रसारित करने का फैसला किया है। इन पौराणिक धारावाहिकों के पुन: प्रसारण के लिए सार्वजनिक रूप से मांग की गई थी। यह निर्णय दर्शकों को घर पर आकर्षक मनोरंजन मुहैया कराने के लिए लिया गया था। इसी तरह, सार्वजनिक मांग के आधार पर, लोक प्रसारक ने महाभारत के साथ अपने कुछ अन्य प्रसिद्ध धारावाहिकों मसलन शक्तिमान, श्रीमन श्रीमती, चाणक्य, देख भाई देख, बुनियाद, सर्कस और ब्योमकेश बख्शी को डीडी नेशनल पर भी पेश किया है। साथ ही डीडी भारती पर अलिफ लैला और उपनिषद गंगा का भी प्रसारण किया जा रहा है।

डीडी नेशनल पर 28 मार्च 2020 से दोनों पौराणिक धारावाहिकों- ‘रामायण’ और ‘महाभारत’ का प्रसारण किया गया था। दोनों पौराणिक धारावाहिकों के दो एपिसोड रोज प्रसारित किए जा रहे हैं। इनके प्रसारण के शुरू होते ही सोशल मीडिया पर बड़े बड़े हस्तियों ने इस फैसले की तारीफ की। प्रसारण के बाद इन प्रतिष्ठित धारावाहिकों के सभी स्टार कलाकारों ने दूरदर्शन के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए अपने स्वयं के वीडियो और टिप्पणियां पोस्ट करना शुरू कर दिया है और लोगों से उन्हें फिर से टेलीविजन पर देखने की अपील की है। डीडी नेशनल पर रोजाना सुबह 9 बजे और रात में 9 बजे ‘रामायण’ का बिना दोहराव के प्रसारण होता है। इसी तरह दूरदर्शन पर ‘महाभारत’ रोजाना दिन में 12 बजे और शाम 7 बजे प्रसारित होता है। डीडी नेशनल पर दोपहर में मनोरंजक धारावाहिकों का दौर शुरू होता है। दोपहर बाद 3 बजे सर्कस, 4 बजे श्रीमान श्रीमती, 5 बजे बुनियाद का प्रसारण होता है। इसी तरह शाम में 6 बजे देख भाई देख, 8 बजे शक्तिमान, 9 बजे रामायण और रात में 10 बजे चाणक्य प्रसारित होता है। डीडी भारती पर सुबह 10.30 बजे आलिफ लैला और शाम 6 बजे उपनिषद गंगा का प्रसारण किया जाता है।

दूरदर्शन के पुराने कार्यक्रमों में दिलचस्पी और संभावित दर्शकों की महत्वपूर्ण वृद्धि ने भारत के सार्वजनिक ब्रॉडकास्टर को देशव्यापी लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करने में सक्षम बनाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.