वरिष्ठ पत्रकार पशुपति शर्मा का ज़ी हिंदुस्तान से टूटा नाता

वरिष्ठ टीवी पत्रकार पशुपति शर्मा ने ज़ी हिंन्दुस्तान (Zee Hindustan) के मैनेजमेंट को अपना इस्तीफा सौप दिया है. जल्द ही वे एक नए मीडिया हाउस की महत्वाकांक्षी परियोजना का हिस्सा बनने जा रहे हैं.

0
342
pashupati sharma tv journalist
पशुपति शर्मा का ज़ी हिंदुस्तान से इस्तीफा

ख़बरों की दुनिया से एक बड़ी खबर आ रही है. विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक वरिष्ठ टीवी पत्रकार पशुपति शर्मा ने ज़ी हिंन्दुस्तान (Zee Hindustan) के मैनेजमेंट को अपना इस्तीफा सौप दिया है. जल्द ही वे एक नए मीडिया हाउस की महत्वाकांक्षी परियोजना का हिस्सा बनने जा रहे हैं जिसमें उनकी अग्रणी भूमिका होगी. ख़बरों की माने तो ये ज़िम्मेदारी उनके कैरियर की सबसे बड़ी ज़िम्मेदारी होगी.

पशुपति शर्मा को टेलीविजन न्यूज इंडस्ट्री का लंबा अनुभव प्राप्त है. ज़ी हिन्दुस्तान से पहले उन्होंने इंडिया टीवी, न्यूज24 और टीवी टुडे जैसे बड़े ग्रुप के साथ भी काम किया है. ख़बरों की उन्हें गहरी समझ है और नए प्रयोगों के लिए वे जाने जाते हैं. ज़ी हिन्दुस्तान में भी उनकी यह काबिलियत स्क्रीन पर दिखाई दिया जिसे दर्शकों ने सराहा भी.

ज़ी मीडिया के वेंचर ज़ी हिन्दुस्तान के साथ पशुपति शर्मा ने अपनी पारी एक साल पहले ही शुरू की थी. यहाँ चैनल की रिलॉन्चिंग में उन्होंने अहम भूमिका निभायी. उनपर विश्वास जताते हुए सीइओ (CEO) पुरूषोत्तम वैष्णव ने उन्हें खुलकर काम करने का मौका दिया जिसपर वे खरे भी उतरे. कुछ ही समय में ज़ी हिन्दुस्तान को नई पहचान मिली. गौरतलब है कि पिछले साल कोरोना संकट के कठिन दौर के बीच चैनल की रिलॉन्चिंग हुई थी जिसके कुछ हफ्तों बाद ही चैनल अपनी अलग पहचान बनाने में सफल रहा. ज़ी हिन्दुस्तान के इस रंग, रूप और तेवर के पीछे पशुपति शर्मा का अहम रोल रहा. यही वजह है कि पशुपति शर्मा का इस्तीफा ज़ी हिन्दुस्तान के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है क्योंकि ख़बरों की योजना से लेकर सुपर प्राइम टाइम शो उनके हाथों से होकर गुज़रते थे. उनके पास आइडियाज की कमी नहीं रहती.

पशुपति शर्मा के बारे में उन्हें जानने वाले कहते हैं कि वे जितने अच्छे प्रोफेशनल हैं उतने ही बेहतरीन इंसान भी हैं. न्यूज़ रूम में हर कोई उनके स्वभाव का मुरीद है. न्यूज़ रूम में उनकी मौजूदगी ही आउटपुट से लेकर एडिटिंग तक और ग्राफिक्स से लेकर असाइनमेंट तक नई ऊर्जा का संचार करती है. लेकिन साथ ही वे ऐसे लोगों को बर्दाश्त नहीं करते जो न्यूज़ रूम के डेकोरम को तोड़ने की कोशिश करते हैं.

पशुपति शर्मा के पास आइडियाज की कमी नहीं रहती. कंटेंट और खबरों के प्रजेंटेशन के मामले में वो नये प्रयोगों के पक्षधर हैं. ज़ी हिन्दुस्तान के रिलॉन्चिंग के वक़्त पशुपति शर्मा के डिजाइन किए गए कार्यक्रमों को 2020 का INBA अवार्ड मिला. CEO पुरुषोत्तम वैष्णव के साथ खुली चर्चा के बाद ‘ख़बरों का टॉप एंगल’ जैसा अनूठा शो शुरू कर स्टूडियो से बाहर खुले आसमान से खबरों के प्रजेंटेशन का नया ट्रेंड शुरू किया तो वंदे मातरम शोज से चैनल को नई पहचान दिलाई । क्रोमा का इस्तेमाल किए बिना ‘की ग्राफिक’ के जरिए स्टूडियो में ख़बर को नये तरीके से दर्शकों तक पहुंचाया. ज़ी हिन्दुस्तान में सत्ता परिवर्तन होने के बाद भी पशुपति शर्मा नये मैनेजिंग एडिटर शमशेर सिंह के पसंदीदा चेहरे बने रहे.

पशुपति शर्मा ने जून 2020 में ज़ी हिन्दुस्तान में अपनी पारी की शुरुआत की थी. ज़ी हिन्दुस्तान से पहले पशुपति शर्मा इंडिया न्यूज़ में बतौर आउटपुट हेड अपनी जिम्मेदारी निभा चुके हैं. साल 2018 में इंडिया न्यूज़ ज्वाइन करने से पहले पशुपति शर्मा न्यूज नेशन में करीब 6 साल तक अहम भूमिका में रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.