ऑनलाइन शॉपिंग की दुनिया में फ्लिपकार्ट और स्नैपडील का धमाका

0
1186

भाषा

नई दिल्ली: देश के ऑनलाइन खुदरा बाजार में सोमवार को जमकर बिक्री हुई। विभिन्न उत्पादों पर भारी छूट की पेशकश का लाभ फ्लिपकार्ट तथा स्नैपडील को मिला और दोनों ने लगभग 600-600 करोड़ रुपये का माल बेचा। वहीं, ग्राहकों ने तकनीकी समस्याओं की शिकायत की। दूसरी तरफ वैश्विक ई-खुदरा कंपनी अमेजन ने दिवाली पूर्व मुहिम जारी रखी।

फ्लिपकार्ट ने 10 घंटे के बीच 10 करोड़ डॉलर (600 करोड़ रुपये से अधिक) का सामान बेचने का दावा किया। वहीं, स्नैपडील ने एक मिनट में एक करोड़ रुपये के उत्पाद बेचने की बात कही। यह राशि फ्लिपकार्ट के बराबर बनती है। वहीं तीन दिन का छूट अभियान चला रही अमेजन की तरफ से बिक्री का कोई आंकड़ा नहीं दिया गया है।

फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक सचिन बंसल तथा बिनी बंसल ने एक संयुक्त बयान में कहा कि हमारी वेबसाइट एक अरब बार देखी गई और हमने 24 घंटे में 10 करोड़ डॉलर का माल बेचने का लक्ष्य केवल 10 घंटे में हासिल कर लिया।

फ्लिपकार्ट पर बिक्री सुबह 8 बजे शुरू हुई और अधिकतर उत्पादों की बिक्री दोपहर तक हो गई।

संयुक्त बयान के अनुसार, ‘हमारे लिए आज का दिन अप्रत्याशित रहा क्योंकि भारत में इतनी मात्रा में पहली बार बिक्री हुई है। गुणवत्तापूर्ण उत्पादों एवं आकर्षक पेशकश के साथ हम देश के ई-कारोबार खंड में इतिहास रचा है।’

स्नैपडील भी पीछे नहीं रही। कंपनी के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी कुनाल बहल ने कहा, ‘6 अक्तूबर को स्नैपडील की रिकॉर्ड बिक्री हुई। प्रति मिनट एक करोड़ रुपये से अधिक का माल बिक गया। एक ही दिन में लाखों उत्पाद बिके।’

वहीं, दूसरी तरफ ग्राहकों ने फ्लिपकार्ट वेबसाइट पर तकनीकी गड़बड़ी और उसके धीमे चलने की शिकायतें की। लोगों ने सोशल मीडिया के जरिये बिक्री योजना के दौरान फ्लिपकार्ट वेबसाइट के खराब प्रदर्शन को लेकर अपनी निराशा व्यक्त की। कुछ ग्राहकों ने अपनी शिकायत में कहा कि उन्हें आर्डर ब्योरा नहीं मिला जबकि उन्होंने उत्पाद के लिए भुगतान कर दिया।

फ्लिपकार्ट ने कहा, ‘हमारी तकनीकी टीम इन खामियों को दूर करने में लगी रही और ग्राहकों को हर संभव मदद उपलब्ध करायी..।’ कंपनियों ने मोबाइल फोन, उपभोक्ता इलेक्ट्रानिक, सोने के सिक्के तथा अन्य उत्पादों पर भारी छूट की पेशकश की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 4 =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.