नौकर नहीं, मालिक बनिए,वेबसाईट से जुड़िये

0
532

प्रेस विज्ञप्ति

www.shikshaadvisor.com और www.policeprashasan.com के साथ जुड़कर हर माह कम से कम 10 हजार रुपये कमाइए।

भारतीय पुलिस की खबरों का दूसरा नाम बनने और कई राज्यों में पुलिसवाला ऑफ द ईयर अवार्ड आयोजित करने के बाद अब www.policewala.in अपना विस्तार करने जा रहा है ।अब www.policewala.in का नाम www.policeprashasan.com (पुलिस प्रशासन.कॉम) हो गया है । अब यहां पुलिस के साथ साथ प्रशासन से जुड़ी खबरें भी प्रमुखता से प्रकाशित की जाएंगी । अभी तक हम जो पुलिसवाला ऑफ द ईयर अवार्ड आयोजित करते थे अब उसमें प्रशासन के लोगों मसलन,IAS,PCS समेत प्रशासन से जुड़े अधिकारियों कर्मचारियों को भी सम्मानित किया जाएगा। इसके अलावा आपको किस तरह की खबरें भेजनी होंगी,ये आपका सिलेक्शन होने पर आपका बताया जाएगा।

www.policeprashasan.com में बतौर रिपोर्टर यदि आपका सिलेक्शन होता है तो www.shikshaadvisor.com की फ्रेंचाइजी आपको बोनस के तौर पर दी जाएगी । www.shikshaadvisor.com का मुख्य काम है बेरोजगार युवकों को ये बताना कि किस स्कूल/कॉलेज में कहां वेकेंसी है ,साथ ही स्कूलों को एक ऐसा प्लेटफॉर्म मुहैया करवाना जहां वो अपनी न्यूज से लेकर वैकेंसी तक भेज सकें . लेकिन www.shikshaadvisor.com का सबसे बड़ा काम है हर जिले में मौजूद स्कूलों और प्राईवेट शिक्षा संस्थानों की रैकिंग करना ताकि छात्र ऐसी जगह पढ़ने जाए जहां से पढ़ने के बाद कामयाबी उसके कदम चूमे .

यदि आप उत्तर प्रदेश,मध्य प्रदेश, राजस्थान ,उत्तराखंड ,बिहार,हिमाचल प्रदेश ,हरियाणा और पंजाब में रहते तो अपने जिले से रिपोर्टर बनने के लिए आवेदन कर सकते हैं ।

ये बात किसी से छिपी नहीं है कि इन दिनों ज्यादातर न्यूज़ चैनलों ने जिला संवाददातों से स्टोरी लेना करीब करीब बंद कर रखा है । ऐसे रिपोर्टर्स की कमी नहीं है जिन्होंनें कई कई महीनों से कई स्टोरी अपने चैनल को नहीं भेजी क्योंकि उनके चैनल से उनसे स्टोरी ली ही नहीं। रिपोर्टर्स के मन में हमेशा ये आशंका बनी रहती है कि इस बार चैनल उनकी कोई स्टोरी लेगा या नहीं । कुल मिलाकर उनके सामने आर्थिक संकट मुंह बाए खड़ा रहता है।
बात बेहद सीधी सी है । कोई भी चैनल या अखबार सिर्फ और सिर्फ आपके दम पर जिंदा रहता है । आपने अपने खून पसीने से सींचकर जिस चैनल या अखबार को पाला पोसा ,आज वो आपसे न के बराबर स्टोरी लेता है ।तो ऐसे में सवाल ये है कि आप कब तक इस झूठी उम्मीद पर आस लगाए बैठे रहेंगे कि इस महीने कोई स्टोरी चली जाएगी।
इसीलिए हमने तय किया है प्रत्येक जिले में जो भी रिपोर्टर नियुक्त किए जाएंगे , पहले तीन महीने तक उन्हें विज्ञापन का 100 फीसदी पैसा दिया जाएगा। यानि अगर वो policeprashasan.com और www.shikshaadvisor.com पर 10 हजार रुपये का विज्ञापन लाते हैं तो वो सारा पैसा उनका ही होगा। और हां, सबसे अहम बात,विज्ञापन में आपकी मदद करने के लिए दिल्ली में बैठी हमारी प्रोफेशनल सेल्स टीम लगातार आपकी मदद करेगी।

अब यकीनन हर रिपोर्टर के मन में ये सवाल उठेगा कि वो विज्ञापन लाएंगे कहां से और उन्हें विज्ञापन देगा कौन ? दोस्तों इसका जवाब सिर्फ एक लाइन में ये है कि आपके जिले में विज्ञापन प्रतिनिधि , जो भी विज्ञापन लाते हैं उन्हें आपकी खबरों के आधार पर ही विज्ञापन मिलता हैं। वैसे भी पुलिस और प्रशासन तथा शिक्षा ऐसा विषय है जो हर अमीर गरीब ,बड़े छोटे शख्स की जिंदगी से जुड़ा है । लिहाजा विज्ञापन मिलने में आपको कोई दिक्कत नहीं होगी।
तो देर किस बात की , अगर आप सचमुच नौकर नहीं,मालिक बनना चाहते हैं ,अगर आप खुद अपने जिले में www.policeprashasan.com और www.shikshaadvisor.com के रिपोर्टर बनना चाहते हैं तो …info.policewala@gmail.com पर तुरंत संपर्क करें। और हां, हमारे साथ जुड़ने के लिए आपको अपनी नौकरी छोड़ने की कोई जरुरत नहीं है।

कृपया फोन न करें सिर्फ मेल करें । आखिरी तारीख 10 जुलाई 2014.
दिनेश कुमार
मैनेजिंग एडिटर
info.policewala@gmail.com
shikshaadvisor@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × four =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.