आज तक का अंजना कश्यप छेड़खानी मामला क्या नाट्य रूपांतरण था?

4
384




anjana  kashyap  आजतक की मुहिम पूछता है आजतक. दस महिला पत्रकारों का जत्था. दिल्ली की सड़कों पर यहाँ – वहां और इस मुहिम के दौरान अंजना कश्यप के साथ तीन मनचलों की चुहलबाजी. आजतक ने पूरी घटना को बतौर उदाहरण पेश करते हुए इसे चैनल पर लगातार चलाया.

सहयोगी चैनल हेडलाइन्स टुडे ने भी आजतक की इस खबर के साथ खूब खेला और अपनी खबर और अपनी संवाददाता बनाकर जनता जनार्दन के सामने पेश किया. ख़ैर चलिए इसमें कोई बात नहीं. लेकिन हेडलाइन्स टुडे और आजतक के वीडियो फूटेज देखने के बाद संदेह की स्थिति पैदा हो गयी है कि अंजना कश्यप छेड़खानी मामला कहीं कोई नाट्य रूपांतरण तो नहीं था?

आप सोंच रहे होंगे कि मीडिया खबर पर ये क्या बकवास लिखा जा रहा है. लेकिन हम कोई हवाई बात नहीं कर रहे है. वीडियो फूटेज देखकर आप भी एकबारगी ऐसा ही सोंचेगे.

आजतक ने जो वीडियो फूटेज मुहैया कराया है उसके मुताबिक़ अंजना कश्यप पीटूसी कर रही हैं और ठीक उसी वक्त गाडी से कुछ मनचले आते हैं और अंजना कश्यप को कहते हैं कि चले और अंजना पूछती है कि कहाँ चलना है.

ख़ैर इसमें कहीं कोई समस्या नहीं. लेकिन हेडलाइन्स टुडे भी ठीक ऐसी ही फूटेज चलाता है. इस बार अंजना कश्यप अंग्रेजी में पीटूसी करती नज़र आती है. बाकी सारे विजुअल ठीक वैसे है. ऐसे में संदेह तो लाजमी है और एक बार देखकर कोई भी धोखा खा सकता है.

दरअसल यहाँ मामला तकनीकी हो सकता है और एडिटिंग और डबिंग कर के अंजना कश्यप की आवाज़ में ही हिंदी को अंग्रेजी या अंगेजी को हिंदी कर दिया गया होगा.

लेकिन दोनों फूटेज को देखने पर इस भाषाई अंतर को देखकर यह भ्रम हो जाता है कि समाचार चैनलों पर चलने वाले क्राइम शो के बहुत सारे नाट्य रूपांतरणों की तरह यह भी कहीं कोई नाट्य रूपांतरण तो नहीं?

हम आजतक या हेडलाइन्स की नियत पर सवाल नहीं उठा रहे , लेकिन एक सामान्य दर्शक की निगाह से देखें तो स्पष्टता के अभाव में शक तो होता ही है कि वाकई ऐसा हुआ है या सब प्लांटेड था. क्योंकि हिंदी या अंग्रेजी में किसी एक पीटूसी के वक्त ही अंजना के साथ छेड़छाड़ वाली घटना घटी होगी.

(एक दर्शक की नज़र से )


आजतक की फूटेज :

हेडलाइन्स टुडे की फूटेज





4 COMMENTS

  1. गौर से सुनेंगे और देखेंगे तो पायेंगे कि जिस समय ये वाकया हुआ है… उस समय अंजना english में ही पीटूसी कर रही हैं… वाकये के वक्त अंजना की एंबियंस पर गौर कीजिए… और पाठक कृपया पड़ताल करने के बाद ही इस तरह की अफवाहों पर ध्यान दें…

  2. सवाल तो सही है. दोनों वीडियो देखने के बाद कन्फ्यूजन तो होता ही है. ख़ैर मीडिया खबर ने सारी चीजों को सामने रख दिया है.

  3. yadi sachmuch aaisa hua hai , to yeh sarasar galat hai, aage rahne ki hood media houson ko pata nahi kaha talak le jayege

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − 8 =