पत्रकारिता विश्वविद्यालय में राज्य स्तरीय कुलपति सम्मेलन आज

0
614

प्रेस विज्ञप्ति

स्वामी विवेकानंद के शिक्षा संबंधी विचार : राष्ट्रीय पुनरूत्थान के लिए एक दृष्टि विषयक एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का होगा आयोजन

भोपाल, 11 नवम्बर / पत्रकारिता विश्वविद्यालय में आज (12 नवम्बर 2014) को राज्य स्तरीय (मध्यप्रदेश) कुलपति सम्मेलन का आयोजन होगा। विश्वविद्यालय परिसर स्थित सभागार में राज्य स्तरीय सम्मेलन के दौरान ”स्वामी विवेकानंद के शिक्षा संबंधी विचार : राष्ट्रीय पुनरूत्थान के लिए एक दृष्टि” विषय एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन भी होगा। सम्मेलन में प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति एवं शिक्षाविद शामिल होंगे। सम्मेलन का उद्घाटन विश्वविद्यालय परिसर के सभागार में 12 नवम्बर 2014 को प्रात: 11.00 बजे होगा। सम्मेलन की अध्यक्षता हिमाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल जस्टिस सदाशिव कोकजे करेंगे।

स्वामी विवेकानंद की सार्ध शती समारोह के दौरान 16 एवं 17 नवम्बर 2013 को नई दिल्ली में राष्ट्रीय कुलपति सम्मेलन का आयोजन किया गया था। तब यह निश्चय किया गया था कि स्वामी विवेकानंद के शिक्षा संबंधी विचारों के माध्यम से राष्ट्रीय पुनरूत्थान के लिए एक दृष्टि विकसित करने के उद्देश्‍य से राज्य स्तर पर कुलपति सम्मेलनों का आयोजन किया जायेगा। इसी कड़ी में यह आयोजन भोपाल में पत्रकारिता विश्वविद्यालय द्वारा किया जा रहा है।

सम्मेलन के विषय में बताते हुए विश्वविद्यालय कुलपति प्रो. कुठियाला ने कहा कि शिक्षा के विषय में स्वामी विवेकानंद के विचार वैश्विक स्तर पर विचारणीय हैं। स्वामीजी ने कहा था कि समाज में धर्म एवं विज्ञान की शिक्षा की आवश्यकता है परन्तु विगत 150 वर्षों में हमने ऐसी शिक्षा प्रणाली बनाई है जो न तो विज्ञान को पूरी तरह समझती है और न ही धर्म के संबंध में हमारी दृष्टि को विकसित करती है। इस संगोष्ठी के माध्यम से स्वामीजी के शिक्षा संबंधी विचारों के आधार पर राष्ट्रीय पुनरूत्थान के लिए एक दृष्टि विकसित करने का प्रयास किया जायेगा।

सम्मेलन के दौरान वर्ष 2013 में नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय कुलपति सम्मेलन का पुस्तकाकार में प्रकाशित कार्यवाही विवरण का विमोचन किया जायेगा। सम्मेलन में स्वामी विवेकानंद सार्ध शती समारोह समिति के राष्ट्रीय सचिव श्री अनिरुद्ध देशपाण्डे, शिक्षा उत्थान न्यास के सचिव श्री अतुल कोठारी एवं विश्वविधालय के कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला अपने विचार रखेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five + eight =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.