विनोद कापड़ी बनना चाहते थे हीरो लेकिन रेडियो सुनकर बन गए पत्रकार !

0
552
विनोद कापड़ी
विनोद कापड़ी

विनोद कापड़ी

न्यूज एक्सप्रेसपर कार्यक्रम पेश करते  विनोद कापड़ी
न्यूज एक्सप्रेसपर कार्यक्रम पेश करते विनोद कापड़ी

30 साल पहले आज के दिन जब इंदिरा जी की हत्या का समाचार रेडियो पर सुना तो बाल मन पर बड़ा गहरा असर पड़ा था,
बरेली का KV JRC , आठवीं की क्लास और स्कूल शुरू हो चुका था। तभी 12 बजे के आसपास ख़बर आई ,लेकिन आधिकारिक तौर पर संभवत 5 बजे बताया गया था।

इंदिरा जी की हत्या से पहले मैं फ़िल्मों मे हीरो बनना चाहता था पर उसके बाद अचानक पहली बार मन में पत्रकार बनने का ख़्याल आया।उस वक़्त सिर्फ़ दूरदर्शन था और मुझे याद नहीं कि जितना जनसैलाब तब उमड़ा था,ऐसा फिर कभी हुआ हो।

घर पर टीवी नहीं होता था। पास के घर पर जब अंतिम विदाई देखने पहुँचे तो वहाँ पहले से एक कमरे मे 30-40 लोग थे।

हो सकता है कुछ लोगों को बात जमे नहीं पर इंदिरा के बाद उतने करिश्माई,हनक वाले और असरकारी राजनेता @narendramodi ही दिखते हैं।

बस बलिदान दिवस को एकता दिवस में बदलना जमा नहीं।

(स्रोत-एफबी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three + fifteen =