इंडियन वीमेन प्रेस कोर के 22 साल पूरे,5 नवंबर को सालना जलसा

0
434
इंडियन वीमेन प्रेस कोर के 22 साल पूरे,5 नवंबर को सालन जलसा
इंडियन वीमेन प्रेस कोर के 22 साल पूरे,5 नवंबर को सालन जलसा
इंडियन वीमेन प्रेस कोर के 22 साल पूरे,5 नवंबर को सालन जलसा
इंडियन वीमेन प्रेस कोर के 22 साल पूरे,5 नवंबर को सालन जलसा




महिला पत्रकारों की एकमात्र संस्था “इंडियन वीमेन प्रेस कोर” , दिल्ली , अपनी स्थापना के 22 साल पूरे होने के अवसर पर सालाना जलसे की तैयारी कर रही है. 5 नवंबर की शाम कमानी ऑडिटोरियम में संगीत संध्या का आयोजन किया गया है. भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद( आई सी सी आर ) के साथ मिलकर इस वर्ष भी “संगीत की एक शाम” नाम से आयोजन किया जा रहा है जिसमें देश के कई प्रसिद्ध गायक और गायक मंडली अपनी प्रस्तुति देगी. समारोह की मुख्य अतिथि होंगी राज्यपाल श्रीमती नजमा हेपतुल्ला और सान्निध्य होगा कथक सम्राट पंडित बिरजू महाराज और उस्ताद शुजात खान का.

गायकों में सुश्री प्रिया कानूनगो का एकल गायन होगा और हुसैन-बंधु के नाम से देश विदेश में प्रख्यात , कई संगीतप्रेमी पीढ़ियों को अपनी गायकी से मोहने वाले ग़ज़ल-क्लासिकल गायक अहमद हुसैन-मोहम्मद हुसैन अपनी प्रस्तुति देंगे. समारोह का मुख्य आकर्षण होंगे लांगा मांगनियार. मुख्य गायक हयात मोहम्मद लांगा अपनी मंडली के साथ भव्य प्रस्तुति देंगे.

आयोजन से पूर्व इसकी घोषणा करते हुए संस्था की प्रेसिडेंट सुषमा रामाचंद्रन ने बताया कि पिछले 22 सालों से जब से इंडियन वीमेन प्रेस कोर शुरु हुआ है तब से संस्था ने महिला पत्रकारों के हितो को सर्वोपरि रखा है और उनके लिए उत्कृष्ट और अनुकूल माहौल तैयार किया है. महिला पत्रकारों के लिए ख़ाली वक़्त बिताने का बेहतर मंच भी बना.

उन्होंने संस्था की शानदार परंपरा के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि क्लब के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है कि कोई सदस्य मंच से प्रस्तुति देंगी. हिंदुस्तानी क्लासिकल गायिका प्रिया कानूनगो पत्रकार हैं और संस्था से जुड़ी हुई हैं. उन्होंने आयोजन के प्रति अपनी शुभेच्छा ज़ाहिर की और अपनी टीम और आईसीसीआर का आभार जताया जिनके साथ हर साल भव्य समारोह संपन्न होता है.

इस मौक़े पर आई सी सी आर के डायरेक्टर अमरेन्द्र खटुआ ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि आईसीसीआर और मीडिया के आपसी सहयोग से ही संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा. उन्होंने दोनों संस्थाओं की पार्टनरशीप पर ख़ुशी जताई और इसे सार्थक क़दम बताया. उन्होंने उम्मीद जताई कि मीडिया, कला और संस्कृति को प्रायोरिटी के तौर देखेगा तभी इसके महत्व का पता चलेगा. लोगों को भारतीय संस्कृति के बारे में बताने के लिए मीडिया के सहयोग की बहुत जरुरत है. श्री खटुआ ने कहा कि संस्कृति लोगों को आपस में जोड़ती है और इस समय देश में सांस्कृतिक एकजुटता बहुत जरुरी है. प्रेस कांफ्रेंस में गायक बंधु अहमद हुसैन-मोहम्मद हुसैन भी मौजूद थे.

अहमद हुसैन ने इंडियन वीमेन प्रेस कोर और आईसीसीआर के प्रति आभार व्यक्त करते हुए दोनों की साझेदारी पर ख़ुशी जताई. उन्होंने कहा – “दोनों संस्थाओं ने हमारे जानिब से बेहतरीन प्रोग्राम का गुलदस्ता सजाया है. दोनों बधाई के पात्र हैं. ये इसी तरह हमें बुलाते रहे, हम आते रहे, गाते रहे.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − 1 =