इंडिया टीवी का पक्ष लिया तो अजीत अंजुम की हुई किरकिरी

0
528




ajit-anjum-hashtagसोशल मीडिया दोधारी तलवार है. यहाँ तारीफ़ मिलती है, हज़ारों लाइक्स मिलती है तो आलोचना और गालियों के लिए भी तैयार रहिये. ऐसा ही कुछ अजीत अंजुम के साथ हुआ है. दरअसल उन्होंने सोशल मीडिया में इंडिया टीवी के खिलाफ चल रहे मुहिम #IndiaTVExposed पर चैनल का पक्ष रखा था. (पढ़ें- अजीत अंजुम का केजरीवाल पर सर्जिकल स्ट्राइक बस फिर क्या था, लोगों ने उनके वॉल पर जाकर ही उन्हें खरी-खरी सुनाना शुरू कर दिया. देखिये कुछ टिप्पणियाँ –

Shoeb Siddiqui हाहाहाहाहा ।।।।।
आप के इस पोस्ट पर मुझे हंसी आरही है। सब जानते हैं ज़ी न्यूज़ और इंडिया टीवी बीजेपी की दलाल है।
आपको शहाबुद्दीन पर रोना आरहा था और असीमानंद पर मौन हैं।
आप और आपका चैनल दोनों दोगले हैं।

Saroj Kumar इंडिया टी वी की सफाई देकर क्यों अपने चरित्र पर बट्टा लगा रहे हो ?

Gajendra Mewara इमरान को छोड़िये साहब। रजत शर्मा खुद ही चैनल को चार चांद लगा रहे हैं।
पत्रकार से पक्षकार बनने को दर्शक बखूबी समझते है।

Saleem Akhter Siddiqui अजीत अंजुम साहब। आपकी इज्जत करते हैं सब। ये कमेंट से पता चलता है, लेकिन इंडिया टीवी की लोगों में क्या इज्जत है, यह आपको आज पता चल गया होगा। ये किसी टीवी चैनल का ओपिनियन पोल नहीं है, जिसका यह पता न चले कि उन्होंने किस तरह काम किया। ये सार्वजनिक चौपाल है। एकदम सच्ची खरी बातें कहीं हैं लोगों ने। अगर इंडिया टीवी पर सवाल उठाने वाले मुसलमान होते तो बचाव में कहा जा सकता था कि वे तो हैं ही मोदी विरोधी। लेकिन यहां 90 प्रतिशत हिंदुओं ने सवाल उठाए हैं। हां, एक रास्ता है बचाव का। इन सभी हिंदुओं को आप वामपमंथी कहकर बच सकते हैं।

पुष्कर पुष्प आपलोग अजीत जी को बेवजह घेर रहे हैं।ये उनकी प्रोफेशनल प्रतिबद्धता का हिस्सा है।लेकिन जो बातें इस रिपोर्टर के बारे में उन्होंने कही है,वो सच के करीब है। बाकी किस चैनल की किससे नजदीकी है ये सबको पता है और कोई छुपाना भी नहीं चाहता।वैसे निष्पक्ष तो हम और आप भी नहीं हैं।

Vijay Kumar इंडिया टीवी के निष्पक्षता पर तो खुद रजत शर्मा को यकीन नही होगा,,,,फिर भी आपकी बात से इतना ही कहा जा सकता है कि 2019 की सत्ता बदल की संभावना के मद्देनजर पाला बदल की आधारशिला रखी जा रही है परंतु अब इतना आगे बढ़ चुके हैं कि वापसी नामुमकिन है

Sunil Nigam अजीत जी हम समझ सकते हैं इंडिया टीवी की तरफदारी करने की अापकी मजबूरी….लेकिन पब्‍िलक को इतना भी गया गुजरा मत समझिए वो कुछ जानती ही नहीं. इंडिया टीवी की मोदी के प्रति अंध्‍ाभक्‍ित के बारे सभ्‍ाी जानते हैं….हालाकि आपकी मैं बेहद रेस्‍पेक्‍ट करता हूं as a निर्भीक, निडर, अथक कुशल, संजीदा अौर अनुभवी पत्रकार के रूप में….मेरा ऐसा मानना है कि आपकी अौर इंडिया टीवी की पैसनैलिटी मैच नहीं करती….न्‍यूज 24 में आप पत्रकारिता करते थे लेकिन इंडिया टीवी में सिर्फ नौकरी कर रहे हैं…..अगर फिर पत्रकारिता करना चाहते हैं तो इंडिया टीवी से विदा ले लीजिए…वराना ऐसे ही सच जानने के बावजूद झूठ की तरफदारी करनी पडेगी आपको….बुरा मत मानिएगा…आपका ही श्‍ाुभचिंतक हुूं…..

Shamim Akhtar अजीत सही समय है जब आप जिस चैनल मे काम कर रहे हैं उसकी विश्ववसनीयता का सर्वे करवा लें

Rohit Sharma I am surprised that you are defending India Tv on Modi Bhakti. it’s really amazed me sir doing job in company is one thing but supporting on wrong thing is another thing. it’s very open secret that your boss Rajat Sharma is Modi dalla without any doubt. Now i lost respect from you

Amit Singh न्यूक २४ पर अापके अच्छे काम को देखकर मै अापको फांलो करता हू । अापको अपके अच्छे काम के लिए अापको बधाई।इंडिया टीवी और जी टीवी के लिए मेरी धारणा स्पष्ट है कि ये भाजपा का सहयोगी चैनल है।जब इंडिया टिवी पत्रकारिता के सिद्धान्तो के विपरीत जा कर किसी एक दल का पक्ष मजबूती से रखेंगें तो इस तरह के प्रोपोगेन्डे का सामना तो करना ही पड़ेगा।

Atul Anand जिस रजत शर्मा की आप नौकरी कर रहे हैं और उसके चैनल को बचाने की कोशिश, उसी रजत शर्मा ने एक तनु शर्मा नाम की पत्रकार को कॉर्पोरेट घराने में धंधे पे भेजने की कोशिश करी थी। मना करने पे जीना हराम कर दिया और उसने आत्महत्या की कोशिश की। उसके बाद भी उसे नहीं छोड़ा और उसको औरउसके परिवर को प्रताड़ित करते रहे। पर आप इनकी भक्ति करते रहिये। पापी पेट का सवाल जो ठहरा।

Abhishek Jaiswal har tv channel aisi hi safai pesh karta hai expose hone k baad… media channel k andar kya chalta hai sabko pata hai… india ko no ullu banawaing….

Ravi Verma Sir personally I respect u but u know very well that how much ur channel is biasive…just ask ur inner soul…hate rajat

Bijay Kumar कोन नहीं जानता INDIA TV और BJP के रिस्तो को ,बेकार की सफाई हैं आपकी

Gurjeet Gurjeet Good. Convinced. Btw there was a point I just couldn’t swallow. Why should one write a protest letter to the alleged BENEFICIARY?
Like · Reply · 10 October at 22:39

Gurjeet Gurjeet Just to clarify. I am not satisfied with India TV’s reporting. But my reservations are not a bit because of Imran’s letter.

Abiding Adi कोनसा चैनल अछूता है बिकने से ? अब तो न्यूज़ ऐसे दिखाते है जैसे रामसे बंधू की होर्रर फिल्म हो ? न्यूज़ चैनल देश के असल मुद्दों से हट के बस सारा दिन रात सत्ता धारियो की चापलूसी में लगे है। ऐसे में कोई आरोप भी लगाए तो क्या फर्क पड़ता है।

Satendra Upadhyay सर आपको नही लगता आप बेकार की टेंशन लेते है उसकी सफलता ये नही की उसकी वजह से ये सब हो रहा है बल्कि उसकी सफलता है कि आप उस बारे मे कुछ लिख रहे है ।सर वो कहावत सुनी है न हाथी चले अपनी चाल आगे नही बोलुगॉ ।

Kubool Qureshi वैसे भी इंडिया टीवी को कोई गंभीरता से नहीं लेता,,, संघी जैनल है इसमें कोई दो राय नहीं,,,,ये वही चैनल जहां एक एंकर ने आफिस में जहर खाकर आत्म हत्या की कोशिश की थी,,,, इसीलिए ये बताने की जरूरत नहीं है कि चैनल का रंग रूप कैसा है

Prem Prakash Chaudhary आप का लोग सम्मान करते हैं। हम भी करते हैं। लेकिन रजत शर्मा के नीचे गिरने का कोई अंत नहीं है। अगर पत्रकारिता पर धब्बा ढूढना हो तो रजत शर्मा को याद करना चाहिए। जनता को सब पता है। आपके इस पोस्ट के कोई मायने नहीं। आप कोयले की खदान में हीरा हैं, बस।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 + 12 =