मीडिया ने कन्हैया को बड़ा बनाया,लेकिन जमीन खोखली रह गयी

0
792
कन्हैया ने रिपोर्टर से पूछा कि क्या आप ज़ी न्यूज़ से हैं
कन्हैया ने रिपोर्टर से पूछा कि क्या आप ज़ी न्यूज़ से हैं




यह बड़ा दिलचस्प मामला है कि देश भर में मशहूर हो जाने के बावजूद कन्हैया अपनी पार्टी को जेएनयू छात्र संघ चुनाव में अकेले लड़ने के काबिल नहीं पा रहे. साल भर चले छात्र आंदोलन का नतीजा यह निकला कि वामपंथ अपने सबसे मजबूत किले जेएनयू में ही कमजोर हो गया…

कभी जेएनयू में छात्र संघ के चुनाव में मुख्य मुकाबला लेफ्ट के दो अलग-अलग धड़ों के बीच होता था. इस बार वहां सभी वाम दल एकजुट होकर एबीवीपी को रोकने की कोशिश कर रहे हैं. नेशनल फेम कन्हैया की पार्टी ने तो अपना कोई कैंडिडेट तक नहीं दिया है.

हवाई क्रांतियों का यही हश्र होता है. ये मीडिया में छायी रहती हैं, जमीन पर खोखली रह जाती हैं.

(पुष्य मित्र के एफबी वॉल से)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × three =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.