आउटलुक पत्रिका की फजीहत,मांगी राजनाथ से माफ़ी

0
808
आउटलुक का वार्षिकांक,इलायची की खुशबू और कंडोम का भ्रम!
आउटलुक का वार्षिकांक,इलायची की खुशबू और कंडोम का भ्रम!

आउटलुक पत्रिका में गृहमंत्री राजनाथ सिंह का बयान छपा और उसपर संसद में हंगामा भी मच गया. लेकिन अब बात सामने आ रही है कि ऐसा कोई बयान कभी राजनाथ सिंह ने दिया ही नहीं और बयान प्रकाशित करने वाली पत्रिका आउटलुक ने अपनी गलती भी मान ली है. इस संबंध में पत्रिका के वेब संस्करण में माफीनामा प्रकाशित किया गया है. ‘

दरअसल, कल सीपीएम सांसद मोहम्मद सलीम ने आउटलुक का हवाला देते हुए आरोप लगााया था कि राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री की लोकसभा जीत के मामले में एक बयान में कहा था कि देश को 800 साल बाद हिंदू शासक मिला है.

लेकिन राजनाथ सिंह ने इसे बेबुनियाद बताते हुए चुनौती दी थी कि यदि यह बयान सही है तो ऐसा बयान देने वाले को गृह मंत्री पद पर नहीं होना चाहिए और यदि यह गलत पाया जाता है तो आरोप लगने वाले मोहम्मद सलीम माफी मांगें.

इस हंगामें के बाद ‘आउटलुक’ ने स्वीकार किया कि उसने राजनाथ के नाम से गलत बयान प्रकाशित किया. पत्रिका ने गलत बयान प्रकाशित करने के लिए राजनाथ सिंह और मोहम्मद सलीम से माफी मांगी.

दरअसल पत्रिका के रिपोर्टर प्रणय शर्मा ने असहनशीलता पर अपनी कवर स्टोरी में लिखा, “मौजूदा विवाद एक उलझा हुआ मसला है. इस पर 800 साल में बने पहले हिन्दू शासक की मुहर है (मोदी की जीत पर केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह का बयान)”…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 + eleven =