साक्षात्‍कार करने से पहले बिहार का कारोबारी इतिहास तो पढ़ लेते ईटीवी रिपोर्टर

0
398




इटीवी के ब्‍यूरो प्रमुख कुमार प्रबोध अभी वेदांता के मालिक और बिहार के पुत्र अनिल अग्रवाल से साक्षात्‍कार ले रहे हैं। पत्रकार महोदय कह रहे हैं कि अपनी एक तिहाई संपत्ति दान करनेवाले अग्रवाल अकेले हिंदुस्‍तनी हैं। अग्रवाल ने करीब 20 हजार करोड की संपत्ति दान करने का एलान किया है। बडा आश्‍चर्य लगता है कि बिहार के सबसे बडे कारोबारी डॉ कामेश्‍वर सिंह की आज पुण्‍यतिथि है। डॉ कामेश्‍वर सिंह 1962 में ही अग्रवाल से करीब तीगूनी ज्‍यादा संपत्ति जनता को दान दे चुके हैं। प्रबोध जी, देश की छोडिए..अग्रवाल ने एक बिहारी कारोबारी के इतिहास को ही दोहराया है। कम से कम इतने बडे अादमी से साक्षात्‍कार करने से पहले बिहार का कारोबारी इतिहास ही पढ लिया कीजिए। अग्रवाल 1975 में कारोबारी बने, कामेश्‍वर सिंह 1962 में स्‍वर्गवासी हो गये। बाकी उनकी संपत्ति का मूल्‍याकण आप खुद कर लीजिए।

(कुमुद सिंह के फेसबुक वॉल से)




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one + 15 =