साहित्य मंथन द्वारा गुर्रमकोंडा नीरजा का सारस्वत सम्मान

0
464

neerajas3हैदराबाद.दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा के सम्मलेन कक्ष में ‘साहित्य मंथन’ के तत्वावधान में आयोजित समारोह में डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा का सारस्वत सम्मान किया गया (8 जुलाई 2013). उल्लेखनीय है कि डॉ.जी.नीरजा को गत दिनों ‘आंध्र प्रदेश हिंदी अकादमी’ ने ‘तेलुगुभाषी युवा हिंदी लेखक पुरस्कार – 2012’ प्रदान किया था. यह आयोजन इसी उपलक्ष्य में किया गया. डॉ.जी.नीरजा उच्च शिक्षा और शोध संस्थान में प्राध्यापक हैं तथा ‘स्रवन्ति’ और ‘भास्वर भारत’ जैसी दो मासिक पत्रिकाओं की सह संपादक भी है. हिंदी ब्लॉगर के रूप में पह्छं अर्जित की है.

इस अवसर पर अध्यक्षासन से ‘भास्वर भारत’ के संपादक डॉ. राधेश्याम शुक्ल ने उन्हें शुभकामनाएं दीं. मुख्य अतिथि डॉ. ऋषभ देव शर्मा, विशिष्ट अतिथिगण डॉ. एम. वेंकटेश्वर और डॉ. अहिल्या मिश्र ने सम्मानित लेखिका को शॉल, स्मृति-चिह्न और लेखन सामग्री भेंट की. जी. संगीता, राधाकृष्ण मिरियाला, गुरु दयाल अग्रवाल, ज्योति नारायण और डॉ. बी.बालाजी ने भी मान-चिह्न प्रदान किए .

डॉ. नीरजा ने ‘साहित्य मंथन’ के प्रति कृतज्ञता प्रकट की.

प्रस्तुति

राधाकृष्ण मिरियाला

(कार्यक्रम संयोजक, ‘साहित्य मंथन’)

प्रवक्ता, हिंदी प्रचारक प्रशिक्षण महाविद्यालय,

दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा, खैरताबाद

आशीष नैथानी का कविता संग्रह ‘तिश्नगी’ लोकार्पित

tishnagi-lokarpanहैदराबाद .’साहित्य मंथन’ के तत्वावधान में दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा के परिसर में आयोजित समारोह में यहाँ कवि आशीष नैथानी सलिल के प्रथम कविता संग्रह ‘तिश्नगी’ का लोकार्पण उच्च शिक्षा और शोध संस्थान के आचार्य डॉ.ऋषभदेव शर्मा के हाथों संपन्न हुआ. अध्यक्षता ‘भास्वर भारत’ के संपादक डॉ.राधेश्याम शुक्ल ने की. विशिष्ट अतिथि के रूप में पधारे प्रो.एम.वेंकटेश्वर, डॉ.अहिल्या मिश्र और दीपांकर जोशी ने कवि की शुभकामनाएँ दीं. इस अवसर पर आशीष नैथानी ने अपनी प्रमुख कविताएँ पढ़कर सुनाई. ‘साहित्य मंथन’ की ओर से उनका अभिनन्दन भी किया गया. लोकार्पित पुस्तक की समीक्षा डॉ.बी.बालाजी ने की. कार्यक्रम का संचलान डॉ.गुर्रमकोंडा नीरजा ने किया. आरंभ में कवयित्री ज्योति नारायण ने सरस्वती वंदना की. इस अवसर पर डॉ.के.बी.मुल्ला, एस.राधाकृष्णन, गुरुदयाल अग्रवाल, डॉ.करन सिंह ऊटवाल, अशोक तिवारी, राधाकृष्ण मिरियाला, वी.कृष्णा राव, डॉ.सीमा मिश्रा, जी,संगीता, प्रियांकी, प्रिया जोशी, बाबा साहब, श्रीनु, विलास, राजू, फातिमुन्निसा, श्यामला, अम्बिका, शबाना, केदारेश्वरी, एन.एप्पल नायुडु, पी.पावनी, देवराजन, संदीप सिंह, संजात, तारीख रहमान और शोयब अक्रम आदि साहित्य प्रेमी उपस्थित रहें.

हैदराबाद – 500004

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.