सुदर्शन न्यूज़ के मालिक सुरेश चव्हाणके ने उ.प्र. के उपमुख्यमंत्री से लगायी गुहार

उ.प्र. की पुलिस ने सुदर्शन न्यूज़ के संपादक और मालिक सुरेश चव्हाणके को कल लखनऊ हवाईअड्डे पर गिरफ्तार कर लिया. उसके बाद सुरेश चव्हाणके ने उ.प्र. के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को एक ख़त लिखकर अपनी सफाई पेश की है. पढ़िए वो पूरा ख़त -

0
1654
suresh chavhanke sudarshan channel

सुदर्शन न्यूज़ के मालिक सुरेश चव्हाणके अक्सर अपने विवादास्पद कार्यक्रमों के लिए सुर्ख़ियों में रहते हैं. दरअसल इस चैनल की पहचान ही ऐसे कार्यक्रमों की बदौलत बनी है जिसमें एक धर्म और राष्ट्रीयता के आडंबर में खुलेआम पक्षपातपूर्ण रिपोर्टिंग की जाती है. बहरहाल सुदर्शन न्यूज़ के बिंदास बोल कार्यक्रम में फिर एक बार ऐसा ही हुआ है. इसी की वजह से उ.प्र. की पुलिस ने सुदर्शन न्यूज़ के संपादक और मालिक सुरेश चव्हाणके को कल लखनऊ हवाईअड्डे पर गिरफ्तार कर लिया. उसके बाद सुरेश चव्हाणके ने उ.प्र. के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को एक ख़त लिखकर अपनी सफाई पेश की है. पढ़िए वो पूरा ख़त –

यूपी के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य जी से मुलाक़ात के दौरान सुदर्शन चैनल पर की गई कार्यवाही और 13 तारीख की मेरी संभल यात्रा के संबंध में दिए गए पत्र की प्रति..

सेवा में,

श्री केशव प्रसाद मौर्य जी
उप मुख्यमंत्री
उत्तर प्रदेश सरकार

विषय : सुदर्शन चैनल पर क़ानूनी कार्यवाही और संभल यात्रा के संदर्भ में।

बंधुवर,

जय हिंद!

मैं सुरेश चव्हाणके चेयरमैन, एडिटर इन चीफ सुदर्शन न्यूज़ नोयडा सेक्टर-57 से राष्ट्रीय समाचार चैनल संचालित करता हूँ। पिछले दिनों संभल में हुई मुस्लिम संप्रदाय और पुलिस प्रशासन के बीच हिंसक झड़प, जिसमे पुलिस के ऊपर मुस्लिम संप्रदाय के लोगो ने पथराव किया था, को गलत बताते हुए सुदर्शन न्यूज़ ने प्रमुखता से दिखाया और प्रचारित किया था, जिसके बाद पुलिस प्रशासन और जनता का मनोबल बढ़ा और पुलिस ने सदभाव बिगाड़ने वाले लोगो के खिलाफ कार्यवाही भी की, परन्तु संभल जिला कांग्रेस पार्टी के महासचिव इतरत हुसैन बाबर जो की संभल की जामा मस्जिद से भी सम्बंधित है उन्होंने एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि यदि सुरेश चव्हाणके संभल आये तो उनके उनके हाथ पैर तोड़ दिए जाएंगे और उनकी गर्दन काटकर उनके घर भेज दी जायेगी। इतनी गंभीर टिप्पड़ी करने के बाबजूद जिला प्रशासन ने पूर्व सांसद शाफिकुर्रह्मान बर्क के दबाब में आते हुए इतरत हुसैन बाबर के खिलाफ सीधा मुकदमा दर्ज न करते हुए संभल थाने के थानाधक्ष्य के माध्यम से दिनाकं 10-04-17 को मेरे और इतरत हुसैन बाबर के विरुद्ध एक संयुक्त एफआईआर दर्ज कर दी। उपरोक्त सम्बंधित मै कुछ बिन्दुओ पर आपका ध्यान आकर्षित करना चाहूगा :-

1- संभवत ऐसा स्वन्त्रत भारत के इतिहास में पहली बार हुआ होगा जब स्थानीय दंगाइयों से निपटने और प्रशासन का मनोबल बढाए जाने वाले कंटेंट दिखाने के कारण किसी किसी चैनल के चैयरमैन के ऊपर गंभीर धाराओ में मुकदमा दर्ज किया गया हो। कृपया इसे तुरंत निरस्त किया जाए।

2- संभल के कॉंग्रेस महासचिव और जामा मस्जिद के सदस्य इशरत हुसैन बाबर ने मुझे संभल में आने पर सिर क़लम करने की धमकी दी है, कृपया इस पर तत्काल कार्यवाही करते हुए इतरत हुसैन बाबर की गिरफ्तारी हो|

3- मुझे अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के चलते दिनांक 13-04-17 को संभल जाना है परन्तु स्थानीय प्रशासन मेरी 13 अप्रैल की यात्रा को रोक रहा है साथ ही बरिष्ठ अधिकारियों को ये भ्रामक जानकारी मुहैया करा रहा है कि मै हरीहर मंदिर (वर्तमान में जामा मस्जिद में जाना चाहते है) जिससे माहौल ख़राब होगा जबकि वास्तविक में मै कल्कि मंदिर ( आहाल्याबाई होलकर ने बनाया हुआ ) में जा रहा हू और इस पर किसी को आपत्ति होने का कोई कारण नही है। संभल का बड़ा मुस्लिम समाज भी मेरा वहाँ स्वागत करना चाहता है।

आपसे अपेक्षा है। मेरा यात्रा को रोकने की मांग करने वाले असमाजिक तत्वों को शक्ति ना मिले इसलिए मुझे अपनी तय यात्रा पूरी करने दी जाए, जिसमें किसी भी प्रकार से किसी धर्म के विरूद्ध कुछ नही है तथा मुझे जान से मारने की धमकी देने वाले इतरत हुसैन बाबर को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए|

आपका

सुरेश चव्हाणके
चेयरमैन एवं मुख्य संपादक
(सुदर्शन न्यूज चैनल)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine − one =