वरिष्ठ पत्रकार सतीश के सिंह को मातृशोक

0
598
विचार की मुद्रा में सतीश के सिंह
सतीश के सिंह , वरिष्ठ पत्रकार
विचार की मुद्रा में सतीश के सिंह
सतीश के सिंह , वरिष्ठ पत्रकार

माँ-बाप से बढ़कर दुनिया में शायद ही कोई रिश्ता होता होगा. इसलिए सांसारिक नियम के अनुसार जब ये हमसे बिछुड़ते हैं तो दर्द भी सबसे ज्यादा होता है. अचानक एक खालीपन आता है और शोकाकुल ह्रदय के लिए सांत्वना छोटा शब्द साबित होता है.

वरिष्ठ पत्रकार सतीश के सिंह ऐसी ही स्थितियों से गुजर रहे हैं. कुछ महीने पहले उनके पिता चल बसे और अब माताजी का देहांत हो गया. यानी एक ही साल के अंदर माता और पिता उनके मन को शोकाकुल कर चले गए.

इस बाबत सतीश के सिंह ने सोशल मीडिया पर सूचना भी शेयर की है जिसे हम यहाँ आपसे साझा कर रहे हैं ताकि उन्हें जानने वालों तक ये दुखद सूचना प्रेषित हो सके.

Dear Friends & Priyajan , My beloved mother left us on Nov 1, Brahmbhoj will take place on Nov 13 at our native village , Amain , Jehanabad , Bihar . Pl come and oblige . Rgrds , satish & family




Dear Friends & Priyajan , My beloved mother left us on Nov 1, Brahmbhoj will take place on Nov 13 at our native village , Amain , Jehanabad , Bihar . Pl come and oblige . Rgrds , satish & family
Dear Friends & Priyajan , My beloved mother left us on Nov 1, Brahmbhoj will take place on Nov 13 at our native village , Amain , Jehanabad , Bihar . Pl come and oblige . Rgrds , satish & family




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − eleven =