अंग्रेजी वाले राजदीप हिंदी में ‘भौंकते’ क्यों हैं?

0
260

RAJDEEP-RAJ-BHUNKNAशीर्षक देखकर आप चौंक गए होंगे. लेकिन माफ कीजियेगा, हम यह पूरे होशो-हवास में लिख रहे हैं. यह कोई त्रुटि नहीं. दरअसल राजदीप – राज ठाकरे इंटरव्यू देखने के बाद ऐसा कहने पर मजबूर होना पड़ा. इस इंटरव्यू में राज ठाकरे जितनी बदतमीजियाँ कर सकते थे एक के बाद एक करते गए और राजदीप धैर्य धारण कर सुनते गए.

ख़ैर यह कोई नयी बात नहीं है. ठाकरे परिवार मीडिया के साथ बदसलूकी/बदतमीजी के लिए जाना ही जाता है. यह उनकी सियासत और उनके चरित्र का एक तरह से परिचायक है. बहरहाल वापस राजदीप – राज ठाकरे इंटरव्यू पर वापस आते हैं. इस इंटरव्यू में राज ठाकरे की बदतमीजी के अलावा खटकने वाली बात राजदीप की हिंदी भी रही. राजदीप एक जगह पर बहुत ही सामान्य तरीके से ये सवाल पूछते नज़र आते हैं कि लोग कहते हैं राज ठाकरे ‘भौंकता’ बहुत है. ये सवाल सुनकर राज ठाकरे का ‘भौंकना’ माफ कीजियेगा बिफरना स्वभाविक ही था. राज ठाकरे ने कहा भी कि अच्छा राज ठाकरे ‘भौंकता’ है. फिर इससे भी मन नहीं भरा तो राजदीप को बोलने से रोकते हुए कहा कि अच्छा तुम्हारा ‘भौंकना’ बंद हुआ?

दरअसल इसमें राजदीप की गलती नहीं थी. गलती उनकी कमजोर हिंदी की थी. वे अंग्रेजी के पत्रकार हैं. हिंदी बोलना उन्होंने सीखा है. दूसरे अंग्रेजी पत्रकारों की तुलना में अब वे अच्छी बोल भी लेते हैं. लेकिन हिंदी शब्दों के प्रयोग में उनसे चूक होती है जो लाजमी भी है. लेकिन ‘भौंकना’ शब्द का प्रयोग करके उन्होंने बड़ी भूल की है.

सवाल उठता है कि जब हिंदी में राज ठाकरे का इंटरव्यू लेना है तो उनके नेटवर्क चैनल IBN7 से जाकर कोई इंटरव्यू ले लेता. राजदीप को हिंदी में ‘भौंकने’ मतलब बोलने की क्या जरूरत है? कम से कम ऐसी जिल्लत झेलने से तो बच जाते.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 + 18 =