मौका देखकर नकवी जी क्रांतिकारी हो गए

0
218

वेद उनियाल

नरेंद्र मोदी के इंडिया टीवी पर चले फिक्स इंटरव्यू के विरोध में कमर वहीद नकवी का इस्तीफा

नकवीजी को तब दिक्कत नहीं हुई जब केजरीवाल , अखिलेश दिग्विजय के लंबे लंबे इंटरव्यू दिए गए । खबर काफी दिनों से थी कि चैनल में उनके मिजाज ठीक नहीं चल रहे। पतझड़ कभी भी आ सकता है। लिहाजा मौका देखकर क्रांतिकारी हो गए।

दरअसल यह दौर चरम हेपोक्रेसी का है। जो जितना बड़ा हेपोक्रेट , उतना बड़ा अरविंद केजरीवाल। अंदाज देखिए कभी नहीं जाना था कि आप के उम्मीदवार पत्रकार आशुतोष जाति से गुप्ता है। पर चांदनी चौक में पोस्टर दिखे। आशुतोष गुप्ता ( लालाजी)

विदित हो कि चांदनी चौक में 13 प्रतिशत वैश्य वोट है। मुस्लिम वोट का इंतजाम मोदी को गाली देकर पक्का मान लिया। बाकि कमी कसर लालाजी बनकर पूरी हो गई। और जुबान में है कि हम व्यवस्था बदलने चले हैं। नया भारत बनाने चले हैं। बकौल केजरीवाल, ऐसे नहीं चलने देंगे सब कुछ ।

(स्रोत-एफबी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven + 13 =