बंद हुआ सरकारी खर्चे पर अखिलेश यादव के निजी एफबी, ट्विटर का प्रचार

0
772

प्रेस विज्ञप्ति

पिछले एक लम्बे समय से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रकाशित किये जा रहे विज्ञापनों में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निजी ट्विटर एकाउंट twitter.com/yadavakhilesh और फेसबुक एकाउंट facebook.com/yadavakhilesh का लगातार हो रहा प्रचार अब बंद कर दिया गया है.

मैंने 06 नवम्बर को सरकारी पैसे पर इस प्रकार से निजी सोशल साईट एकाउंट और उसमे लिखी गयी तमाम राजनैतिक बातों का प्रचार करने के बारे में श्री यादव को शिकायत की थी, जिसमे इन एकाउंट में समाजवादी पार्टी का वेबसाइट samajwadiparty.in दर्शाये जाने और समाजवादी पार्टी को वोट देने, पार्टी के कार्यक्रम और राजनैतिक भाषण होने की बात कहते हुए इन व्यक्तिगत एकाउंट को सरकारी प्रचार सामग्री से तत्काल हटाये जाने और चापलूस अफसरों पर कार्यवाही करने की मांग की थी.

अब इन सरकारी प्रचारों में निजी एकाउंट की जगह सीएम ऑफिस, यूपी के एकाउंट twitter.com/cmofficeup तथा facebook.com/ cmofficeup दर्शाए जा रहे हैं जिनमे फेसबुक एकाउंट काम नहीं कर रहा है लेकिन अभी तक गलत ढंग से निजी एकाउंट दर्शाने वालों पर कार्यवाही नहीं हुई है, जिसकी मैंने पुनः मांग की है.

आज भेजा पत्र—-

सेवा में,
श्री अखिलेश यादव,
मुख्यमंत्री,
उत्तर प्रदेश शासन,
लखनऊ
विषय- सरकारी विज्ञापनों में आपके व्यक्तिगत फेसबुक और ट्विटर एकाउंट के प्रचार विषयक

महोदय,

कृपया मेरे पत्र संख्या- NT/Complaint/13/14 दिनांक-06/11/2014 का सन्दर्भ ग्रहण करें जिसके माध्यम से मैंने दिनांक 04/11/2014 को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न समाचारपत्रों में प्रकाशित विज्ञापनों में आपके ट्विटर एकाउंट twitter.com/yadavakhilesh और फेसबुक एकाउंट facebook.com/yadavakhilesh के अनुचित प्रयोग की बात कही थी. मैंने आपसे निवेदन किया था कि कृपया तत्काल यह स्थिति रोकने के आदेश देने की कृपा करें ताकि आपके व्यक्तिगत फेसबुक और ट्विटर एकाउंट आधिकारिक प्रचारों में सम्मिलित नहीं हों और आप सरकारी धन से अपना प्रचार करने के दोषी नहीं कहे जाएँ और इस प्रकार का अनुचित और अवैध कार्य करने और इसके जरिये आपकी स्थिति खराब करने वाले सभी चापलूस अफसरों के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही करने की कृपा करें.

आज दिनांक 30/11/2014 को विभिन्न समाचारपत्रों में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा एनआरआई हेतु जारी किये जाने वाले वेबसाइट के उद्घाटन का विज्ञापन देखने पर यह सुखद अनुभूति हुई कि आपने मेरे द्वारा प्रस्तुत तथ्यों को स्वीकार करते हुए आवश्यक निर्देश दिए जिसके कारण अब इन विज्ञापनों पर आपके निजी ट्विटर और फेसबुक एकाउंट की जगह twitter.com/cmofficeup तथा facebook.com/cmofficeup नाम से कथित रूप से उत्तर प्रदेश सरकार के नए एकाउंट दिखाए जा रहे थे.

मैंने इन दोनों एकाउंट को देखा तो पाया कि इनमे फेसबुक के एकाउंट पर Sorry, this page isn’t available The link you followed may be broken, or the page may have been removed लिखा आता है, जिससे लगता है कि शायद यह फेसबुक एकाउंट अभी अस्तित्व में नहीं है अथवा इसके साथ कुछ दिक्कत है. इसके विपरीत ट्विटर एकाउंट सही काम कर रहा है और मैंने पाया कि इससे नियमित रूप से ट्वीट किये जा रहे हैं. इस एकाउंट पर लिखा है Official Page of Office of Hon. Chief Minister, Uttar Pradesh. इस एकाउंट में उत्तर प्रदेश सरकार अथवा आपके मुख्यमंत्री के रूप में कार्यों का ही उल्लेख है.

फेसबुक और ट्विटर एकाउंट में उपरोक्त परिवर्तन इस बात को स्वतः प्रमाणित कर देता है कि पूर्व में आपके निजी एकाउंट को सरकारी विज्ञापनों पर दर्शाना पूरी तरह गलत था. अतः एक ओर जहां मैं आपको इस गलती को ठीक कराने के लिए धन्यवाद् देती हूँ वहीँ आपसे यह भी निवेदन करती हूँ कि पूर्व में जिन चापलूस अफसरों ने नियमों को ताक पर रख कर इस प्रकार के विधिविरुद्ध कार्य कर इसके जरिये आपकी स्थिति खराब की है, उन सभी के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही करने की कृपा करें ताकि भविष्य में कोई आपको ऐसी असहज स्थिति में ना लाने की हिमाकत करे. साथ ही यह भी दिखवाने की कृपा करें कि कथित फेसबुक एकाउंट facebook.com/cmofficeup वास्तव में काम करे.

पत्र संख्या- NT/Complaint/13/14 भवदीय,
दिनांक-30/11/2014
(डॉ नूतन ठाकुर)
5/426, विराम खंड,
गोमती नगर, लखनऊ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 3 =