उदय शंकर (स्टार इंडिया) के नाम पीके की चिठ्ठी !

0
406
उदय शंकर,प्रमुख,स्टार इंडिया
उदय शंकर,प्रमुख,स्टार इंडिया

आदरणीय उदय शंकरवा जी

उदय शंकर,प्रमुख,स्टार इंडिया
उदय शंकर,प्रमुख,स्टार इंडिया

नमस्कार। उम्मीद है कि आप और भौजी बंढ़िया होंगे। पहले हम तनिक पनवा चबाई लें। हम्ममम.. अब ठीक है। हम हूं पीके ठोंकू। मतलब ई कि हम हूं प्रकाश कुमार ठोंकू और हम पीने के बाद जमकर ठोंकत हूं और सच बोलत हूं। इसीलिएन हमरे दोस्त कहत हैं हमें पीके ठोंकू। समझे का नाही। चलिए सबसे पहिलन आपन को बहुत बहुत बधाई कि आपने स्टार ग्रुपवा को इतना ऊंचाई दिया, तरक्की दिया। आप को हालन में ही पर्सन ऑफ द डिकेड भी चुना गया। क्या बात, क्या बात, ईसबर करे कि आप इसी तरह आगे बढ़त रहिन।

बहरहाल हम मुद्दे की बात पर आवत है शंकरवा भाई। शंकरवाई भाई दरअसल आपने धूम धडाम से स्टार स्पोरटस चैनल में नई जान फूंका, कबड्डी को बहुत ही लोकप्रियन बनाया। हम आपको बताइ रहिन कि हमरे मोहल्लवन का बच्चा लोग किरकिट का बल्ला छोड़न के पूरे दिन कबड्डी कबड्डी करना शुरू कर दिया शंकरवा भाई। बढ़िया है। बहुत ही बढ़िया है। सुनने में तो आवत है कि हिंदुस्तान में खेलन को जिंदा रखन वास्ते आपन के चैनल ने पांच हजार करोड़ के निबेस की प्लानिंग बनाई है। रूपक ताऊ की प्लानिंग तो बहुत ही बढ़िया रहिन। बढ़िया है। बहुत ही बढ़िया है। क्या बात, क्या बात, लेकिन सुनने और देखन में आवत है कि चैनल में आपने अपन और अज्ञानी लोगोन को भर लिया है। सुनने और देखन में आवत है कि पुरानी स्टार न्यूजवा टीम का रैकेट जोर सोर से चलत है। एक सौरभ सिन्हा को आपने हेड बनवा दिया तो इन सौरभवा ने स्टार न्यूजवा टीम का पुराना सपोरटस हेडवा संजोग कुमार को भर्ती कर लिया। संजोगवा आया, तो पता नहि कि अपरणा काला, राहुल काला अऊर बता नहीं कितना ही कालन गौरन को अपने पीछे लगाई लिया। इसके बात ई हुआ शंकरवा भाई कि अपन-अपन लोगोन को भर्ती करन की लाइन लग गई। भाई शंकरवा जी मान लिया कि न्यूज चैनलवा में ई धंधा बहुत जोर-शोर से चलत है लेकिन स्टार ग्रुपवा भी इस बीमारी का शिकारवा हो जाएगा। ई का हमको बिल्कुल भी उम्मीद न ही थी। भाई शंकरवा जी आपन के जैसे बहुत ही पेसेबर और नामी गिरामी संस्थान में भी ई सब होत है का।

आश्चर्य की बात ई बा कि आपने ऐसे-ऐसे लोगन को भर्ती कर लिया जिनका पूरे जीवन में खेलन से कोई लेना-देना कतई भी न न रहिन। हम आपन को बता दें कि आपक ई सब लोग पूरी जिंदगी खेलन और किरकिट को पानी पी पीकर पी पीकर कोसत रहे। अही लोगन जब आईबीएन चैनल से लतियाए रहिन तो लाख-लाख रुपया महीने से ऊपर की नौकरी आपके ग्रुप में पाई गए। बढ़िया नाही है। बिल्कुल भी बढ़िया नाही है। ऐसा याराना किस काम का शंकरवा भाई, जो आपकी भद पिटवाई रहिन जो काबिल लोगन को रुलाई रहिन। बहुत ही अजीब बात है भाई। हमरी समज में बिल्कल ना आवत है कि जिन लोगन को न क्रिकेट के क में रुचि है और न ही हॉकी के ह में आपन के ही लोगों न उन लोगन को नौकरी दे दी। अब ई लोगनवा स्टार सपोरट्स को कहां ले जाइन रहिन ई आप बहुत ही अच्छी तरह समझ लेना शंकरवा भाई। ई लोगनवा आपको भरत बाजार में नंगा करित रहिन शंकर भाई। हमरी समझ में ई न आवत है शंकरवा भाई जो लोगन और खेल पत्रकार अपनी जिंदगी खेलन को दे दिए, जो खेल के लिए जीवत है खेलन के लिए मरत है, ऊ का आपको कोई सुधि नाही है ऊ लोगोन को आपने कोई जिम्मेदारी नाही दिया। ऐसे में स्टार सपोरटस कैसे आगे बढ़िन शंकरवा भाई। कैसे आगे बढ़ी।

हमने तो ई भी सुना हूं कि आपके गैंग्स आफ स्टारपुर ने ऐसे भी कई लोगनवा को नौकरी का दावत दिया जो पिछले कई सालन से कछु और ही धंधा करत है….आपकी हेचआर टीम ऐसे लोगन के आगे गिड़गिड़ावत है कि मुंबई आइए। हेचआर टीम कहत है कि आपन के लिए बहुत ही अच्छा मौका रहिन। मगर खेल पत्रकार जो जान दिएत रहे पसीना जिंदगी बहात रहे, ऊ का कोई दावत आपकी एचआर टीम न नाही भेजा। शंकरवा भाई ऐसे कैसे आपका चैनल आगे बढ़त रहि। शंकरवा भाई हमारा काम तो आपका बताना और ठोंकना है। भाई आप अपन लोगन की ओर से भर्ती किए गएन लोगन की बैकग्राउंड की जरा जांच करवाइए। फिर देखिए कि कैसे दूध का दूध और पानी का पानी होइत रहिन। ऊ कौन है हां राकेश कायस्थवा। अऊर न जाने कितना और न जानी कैसन कैसन लोगन को भरती कर लिए लिए आप। पूरा झुंडवा का झुंडवा जोड़ लिए। शंकरवा भाई हम आपको बता देत हैं कि ऐसे काम बिल्कुल भी नाही चलत रहिन। हम बहुत ही सीरियसली आप को बता रहा हूं कि बहुत ही गंभीर शिकायत मिलने के बाद ही हमू ने आपन को ठोकन और लिखन का अनुरोध किया। ठीक है शंकरवा भाई। उमीद है कि आप अपन के नाम और पद को देखत हुए इस मामले की जांच जरूर कराइ रहिन। ठीक है। हम अब चलत है। अपना और स्टार ग्रुपवा को ध्यान रखिएगा और हां याद आया। रुपक ताऊ से हमारी राम राम भी बोलिएगा। ठीक हैं शंकरवा भाई। चलिए आप से फिर मुलाकात होगी। जय राम जी की।
आपका दुलारा..सभी का प्यारा
पीके ठोंकू
(नोट: हम पीके ही ठोकत हूं)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 − thirteen =