#नोटबंदी से पस्त जनता #जियो से मस्त है

मुफ्त ‘जियो की सीक्रेट सर्विस क्या है मोटा भाई? मुकेश अंबानी के नाम एक खुला ख़त -

0
368

जिओ के संस्थापक मुकेश अंबानी के नाम एक खुला ख़त

सेवा में,
श्री मुकेश अंबानी,
चेयरमैन,
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड।।

मोटा भाई,
नमस्कार।।

सुना जियो के #सिम आप #मुफ्त में दे रहे हैं तो दिल बाग़-बाग़ हो गया।। सिर्फ आधार कार्ड और मोबाइल का बार कोड चेक कराओ, गूगल प्ले पर जाकर #ऐप्स डाउनलोड करो और #इंटेरनेट की दुनिया में जियो जी भर के!! बहरहाल जियो का एक मुफ्त सिम हथियाने के बाद सोंचा आपको धन्यवाद दिया जाए।। आपकी #राष्ट्रभक्ति और मुफ्त जियो सर्विस के लिए हम देशवासी इतना तो कर ही सकते हैं।। आप जियो हजारो साल।।

लेकिन मोटा भाई ये क्या पहले दिन ही #नेटवर्क ने दगा दे दिया।। खूब गोल चक्कर कटवाये।। मुफ्त के आनंद पर मानो बज्रपात हो गया।। लेकिन जब नेटवर्क आया तो 4G का असली मजा आ गया।। #यूट्यूब पर क्या दनादन #वीडियो चला।। कोई गोल चक्कर नहीं।। बफरिंग नहीं।। सटासट-झटाझट।। अमेजिंग मोटा भाई।।

राष्ट्रभक्ति की इंटरनेट क्रांति।। #मोदी जी के डिजिटल इंडिया के सपने कोे जियो-जियो कर दिया।। सबसे क्रांतिकारी तो ये लगा कि 500 सौ रुपल्ली में ही आपने पीएम मोदी को जियो का ब्रांड एम्बेसडर बना डाला।। ही ही ही।।

बड़े-बड़े एड गुरु हैरान हैं आपके ‘पीएम मैनेजमेंट’ से परेशान हैं।। करोड़ों का काम उस 500 रुपल्ली में जिसकी #बेवफाई पर पूरे देश में हाय-तौबा मची हुई है।। निकम्मी #एटीएम से निकलती नहीं और निकलती है तो सीधे आप जैसे धनकुबेरों के ख़ज़ाने पर जा बैठती है।। हाँ क्या कहते है उसको!! #कालाधन।। ये बेवफा उसी कल्लू की छमिया बनने को बेक़रार रहती है।। नोटबंदी के पहले भी उनकी थी और नोटबंदी के बाद भी…!! आम आदमी तो कतार में खड़े-खड़े हलकान हो जाता है ये दर्शन भी नहीं देती।। मुंह चिढ़ाने को कभी-कभी इसकी 2000 वाली ‘गुलाबी’ बहन निकल आती है लेकिन निकलते ही कहती है, निकाल तो लिया अब चलाकर दिखाओ।।

बहरहाल जियो नेटवर्क से यूट्यूब चलाया तो सर्च करते-करते हॉलीवुड की एक फिल्म पर नज़रें टिक गयी।। नाम “किंग्स मैन – द सीक्रेट सर्विस”।। जासूसी फिल्मों में अपनी दिलचस्पी है सो देखने लगा।। संयोग देखिये सीक्रेट फिल्म वाली इस फिल्म का क्लाइमेक्स मुफ्त ‘सिमकार्ड’ ही निकला।। फिल्म में सीक्रेट सर्विस के जाबांज एक ऐसे सिरफिरे मोबाइल कंपनी के मालिक से लड़ते दिखाई देते हैं जो दुनिया को अपने तरीके से चलाने के लिए ‘मास किलिंग’ की योजना बनाता है और उसकी एक तिथि भी सुनिश्चित कर देता है।।

हैरानी की बात है कि दुनियाभर के लोगों की सामुहिक हत्या की उसकी पूरी योजना ‘सिमकार्ड’ पर आधारित है ।। दरअसल सिमकार्ड में एक ऐसा ‘चिप’ लगा हुआ है जिसके एक्टिवेट होते ही उस सिमकार्ड को इस्तेमाल करने वाले यूजर का स्वभाव हिंसक हो उठता है और वो अपने आसपास के लोगों की हत्या करने पर उतारू हो जाता है।। उससे भी हैरानी की बात ये है कि जियो की तरह ये सिमकार्ड भी पहले लोगों को बिलकुल मुफ्त दिए गए।। अनलिमिटेड इंटरनेट एक्सेस और मुफ्त कॉलिंग की सुविधा के साथ।।

लेकिन अंत में ये मुफ्त सेवा ढेरों लोगों की #मौत का सामान बनता है।। देखकर #सिहरन हुई।। जियो के लाखों उपभोक्ताओं के बीच सहसा आपका चेहरा सामने आ खड़ा हुआ।। उम्मीद करते हैं कि मुफ्त जियो आम लोगों की मौत का सामान नहीं बनेगा और इसके लिए आपने किसी सिरफिरे से समझौता भी नहीं किया होगा।।

लेकिन डर तो लगता ही है कि बिना एजेंडा के तो धन्नासेठ अपना मैल भी नहीं देते और आप तो मुफ्त में जियो दे रहे हैं।। पता नहीं इस मुफ्त जियो से हम भविष्य में जियेंगे या मुफ्त में ही मारे जाएंगे मोटा भाई।। बहरहाल जो भी हो, नोटबंदी से पस्त जनता जियो से मस्त है।। कुछ तो है जो इस देश में मुफ्त मिल रहा है।। वर्ना तो अपनी कमाई निकालने के लिए भी बड़ी लंबी कतार है।।

सादर,
पुष्कर पुष्प @pushkar20pushp
रोहुआ गाँव, मुजफ्फरपुर, बिहार।
(जियो का एक डरा हुआ यूजर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − eight =