एनडीटीवी इंडिया देश में दंगे भड़काना चाहता है क्या?

0
755




मनीष ठाकुर

 

मनीष ठाकुर
मनीष ठाकुर

हरियाणा में बीफ बेचना और खरीदना अपराध है। यह कानून वहां की विधानसभा से देश के कई अन्य राज्यों की तरह पास कर अमल मे लाया गया है। मेवात में सड़क किनारे बेचे जा रहे बिरियानी में बीफ मिलने की शिकायत की जांच हुई और उस रिपोर्ट के मुताबिक जो सैंपल मिले उसमें बीफ पाया गया। राज्य के कानून के मुताबिक अब इस मामले मे कार्रवाई होगी।

ज्यादातर चैनल के लिए यह खबर बनी लेकिन एनडीटीवी इस पर एजेंडा के रुप मे रात दिन लग गया। एंकरों का सवाल कि सरकार रोजगार पर ध्यान नही दे रही,गरीबी है। बीफ बेचने पर सरकार सख्ती क्यों कर रही है? यहां से भेजे गए रिपोर्टर मेरे दोस्त हृद्येश जोशी से पूछे गए सवाल और जवाव दोनों एजेंडे के तहत लग रहे थे।

भाई क्या सरकार कानून के मुताबिक काम न करे। तुम्हारे एजेंडे के मुताबिक करे । तुम्हारे लिए हमेशा बीफ ही मुद्दा क्यों होता है।

ravish-kumar-biryaniलगे रहो चैनल की फंडिंग जहाँ से हो रही है वो मज़बूरी है। लेकिन अब नंगे हो गए हो । 2002 के गुजरात दंगे के बाद के तुम्हारे खेल का पूरा दस्तावेज sit रिपोर्ट में है। लेकिन बीफ के खेल में इस बार बेनकाब हो रहे हो भाई लोग। मगर…..

सोशल साइट पर लोग रविश पर बीफ के बहाने अपने प्रोग्राम में एजेंडा बनाने का आरोप लगाने लगे। भाई वे बस नौकर है उस पर क्यों गुस्सा निकाल रहे हो। चैलन के हर प्रोग्राम मे वही एजेंडा है तो हमारे बिहारी भाई को साजिश का खिलाडी क्यों साबित कर रहे हो….रहम करो उस पर ,नौकरी करने दो उसे। हां यदि ब्लाग पर देश समाज का ज्ञान दे तो आशुतोष का कांशीराम बन जाना।

लेकिन ये खेल जो एनडीटीवी खेल रहा है वो बहुत खतनाक है। क्या देश के किसी प्रांत में सिस्टम उसके कानून के मुताबिक न चले तो कैसे चले? एजेंडा पत्रकारिता करने से भी आपको कोई रोक नही सकता। धंधा है आपका कीजिए लेकिन फिर आदर्श न बेचिए….

(लेखक पत्रकार हैं)



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 − 3 =