इंडिया टीवी ने किया कश्मीर में हुर्रियत की गुंडागर्दी का पर्दाफाश

0
415
कश्मीर पर इंडिया टीवी की पड़ताल
कश्मीर पर इंडिया टीवी की पड़ताल




कश्मीर पर इंडिया टीवी की पड़ताल
कश्मीर पर इंडिया टीवी की पड़ताल
कश्मीर में लंबे समय से चीजें ठीक नहीं. पाकिस्तान की शह पर तनाव चरम पर है और इसमें हुर्रियत जैसे अलगाववादी संगठनों की बहुत बड़ी भूमिका है. इसी का जायजा लेने के लिए इंडिया टीवी के तेज तर्रार पत्रकार अभिषेक उपाध्याय कश्मीर गए तो कश्मीरी युवाओं ने जो सच बताया वो होश फाख्ता करने वाला है. खुद अभिषेक उपाध्याय अपनी स्टोरी का ब्यौरा देते हुए लिखते हैं –

“पत्थर बाज़ी के गढ़ में तब्दील हो चुके श्रीनगर के ‘डाउन टाउन’ में कश्मीरी लड़के हमे पहचान कर रोकते हैं। अपने घर ले जाते हैं और वो बयां करते हैं जो होश फ़ाख्ता कर दे। खुद के पेट्रोल बम का औज़ार बनाने से लेकर। अलगाववादियों की सनक के हाथों बर्बाद होने की पूरी दास्ताँ। ये भी पूछते हैं, “आपने उस बड़े अलगाववादी नेता की कोठी देखी है? कितने करोड़ की है? और हाँ, राज्य और केंद्र सरकार ने क्या ‘करम’ किया उनके साथ, ये भी सुनिएगा। सोचने का बहुत सामान देता है, ये दर्दे बयां।”




दूसरी तरफ इंडिया टीवी के प्रबंध संपादक अजीत अंजुम पूरी स्टोरी का ब्यौरा पेश करते हुए लिखते हैं –

हुर्रियत कैसे कश्मीर के युवाओं को बना रहा है देश का दुश्मन ? उन्हें बम फेंकने और मरने -मारने को को कैसे मजबूर कर रहे हैं पाक परस्त अलगाववादी ?
हुर्रियत की देश विरोधी साज़िशों का कश्मीरी युवाओं ने किया ख़ुलासा ( पार्ट – 1 )
–////————
श्रीनगर के पत्थरबाज़ी के गढ़ ‘डाउन टाउन’ के कश्मीरी लड़कों का कैमरे पर चौकाने वाला खुलासा–
कश्मीर में इंडिया टीवी के लिए रिपोर्टिंग कर रहे अभिषेक उपाध्याय को दो लडकों ने पहचाना …खुद अपने पास बुलाया…घर ले गए और बात की
“हमे पेट्रोल बम बनने पर मजबूर करते हैं..
आर्मी और CRPF कैंप में अटैक करने को कहते हैं…
हुर्रियत के लोगों ने जीना दुश्वार कर रखा है।
इनके बन्द के चलते हमारा धंधा रोज़गार सब तबाह हो गया है।
इनके अपने बच्चे विदेशों में पढ़ते हैं।
आपने गिलानी की कोठी देखी है? बताइये कितने करोड़ की है वो? और हमारा हाल देखिए।
यही लोग पाकिस्तान के झंडे लहरवाते हैं।
इंडिया की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से पत्थरबाज़ी में काफी कमी आई है।
इनकी फंडिंग पर असर पड़ा है।
मैंने BCom किया है। कुछ करना चाहता हूँ। पर ये मजबूर करते हैं।
और भी बहुत सी बातें….
डाउन टाउन के नौहाटा इलाके के दो कश्मीरी लड़कों ने हमसे बात की।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two + 11 =