500 नये सामुदायिक रेडियो स्टेशनों की सरकारी योजना

0
372

सरकार सामुदायिक रेडियो आंदोलन को नया प्रोत्साकहन देने के लिए 12वीं योजना में 100 करोड़ रुपये उपलब्ध कराएगी। योजना अवधि के दौरान 500 नये सामुदायिक रेडियो स्टेशनों (सीआरएस) की स्थापना का प्रस्ताव है। यह जानकारी आज यहां आयोजित तीसरे राष्ट्रीय सामुदायिक रेडियो सम्मेलन में समापन भाषण देते हुए सूचना और प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने दिया ।

मंत्रालय ने योजना अवधि के लिए मुख्यं लक्ष्यों की भी पहचान की है तथा सामुदायिक रेडियो स्टेशनों के संचालन के लिए सहायता उपलब्ध कराने हेतु मुख्य योजना तैयार की जाएगी। योजना राशि के प्रस्ताव के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने के लिए 90 करोड़ रुपये का प्रस्तांव किया गया है, जबकि प्रशिक्षण, क्षमता निर्माण और सामुदायिक रेडियो स्टेशनों की जागरूकता गतिविधियों के लिए 10 करोड़ रुपयों का प्रस्ताव किया गया है। इस क्षेत्र को अनुसंधान ओर नवीकरण के लिए अनुदान देने हेतु भी प्रावधान किये गए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे हस्ताक्षेपों की भूमिका और प्रासंगिकता को ध्यान में रखते हुए मंत्रालय ने सीआरएस के लिए आकस्मिक अनुदान का भी प्रावधान किया है। मं‍त्री महोदय ने यह जानकारी भी दी कि ऐसे स्टे्शनों की कार्य प्रणाली को प्रोत्साहित करने के लिए सामुदायिक रेडियो स्टेशनों की दृष्टिगत समीक्षा, सामुदायिक रेडियो ऑपरेटर्स की क्षमता का निर्माण, सामुदायिक रेडियो स्टे्शनों द्वारा विषय वस्तु के स्वयं नियमन हेतु नीति संहिता समेत अनेक मुख्यो प्रस्‍‍तावों और पहल पर भी विचार किया गया है।

मंत्री महोदय ने सीआरएस के लिए बेहतर फ्रीक्वेंससी आबंटन योजना के संबंध में संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के साथ महत्वंपूर्ण मुद्दों पर समन्वबय स्था/पित करने में मंत्रालय द्वारा किये जा रहे है प्रयासों के बारे में बताया। उन्हों ने बताया कि संचार विभाग जल्दी‍ ही स्पेक्ट्रयम वेवर से संबंधित घोषणा करने की संभावना है। इस कार्यक्रम की सतता सुनिश्चित करने के लिए एक आकर्षक व्यासपारिक मॉडल की जो आवश्यनकता थी वह भी शुरू किया जायेगा। मनीष तिवारी ने कहा कि मंत्रालय ने डीएवीपी के जरिए सामुदायिक रेडियो इम्पेनलमेंट को मुख्यतधारा में लाने और उनके सरलीकरण को बढ़ावा देने के लिए उपाय किये थे ताकि, इम्पैीनल स्टेेशन सरकारी विज्ञापनों में उचित अंश प्राप्ते कर सकें।

मंत्री महोदय ने इस अवसर पर विभिन्न पुरस्कािर प्रदान किये। यह पुरस्काार विभिन्न श्रेणियों में सीआरएस को दिये गए जो देश के विभिन्ने हिस्सों में कार्य कर रहे हैं। भागीदारों के प्रयासों की सराहना करते हुए श्री तिवारी ने कहा कि ऐसे संस्थासनों द्वारा किये गये नवीन कार्यों से संचार, प्रसार के जरिए सामुदायिक सशक्तिकरण सुनिश्चित हुआ है। ठीक उसी प्रकार ग्रामीण स्त र पर संचार, विषय-वस्तुच तथा आम लोगों की समझ में आने वाली भाषाओं में प्रसार को बढ़ावा देना क्षमता निर्माण के लिए एक अच्छा- प्रयास है। ये स्टेोशन समुदाय में एक चिह्नित और क्रियान्वित प्रक्रिया के जरिए समुदाय में संचार के औचित्ये को परिलक्षित करते हैं। मंत्री महोदय ने जो पुरस्कापर प्रदान किये उसकी सूची इस प्रकार है:-

बेहद रचनात्ममक/नवीन कार्यक्रम विषय-वस्तुप पुरस्कांर

प्रथम पुरस्काहर – रेडियो मेवात, हरियाणा के नूह में एसएमएआरटी एनजीओ द्वारा संचालित, इसके द्वारा चलाये जाने वाले कार्यक्रम ‘’आपकी पुलिस आपके द्वार’’

द्वितीय पुरस्का र – रेडियो बेनजीजर, केरल के कोल्ललम स्थित बेनजीगर हॉस्पी टल सोसायटी द्वारा संचालित, ‘’जनशब्दॉम’’ कार्यक्रम के लिए

तृतीय पुरस्काbर – एसएसएम सामुदायिक रेडियो, एसएसएम कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, नमक्क ल, तमिलनाडु, ‘’थाइमीया थयंगाथे’’ कार्यक्रम के लिए

विषयक पुरस्कालर

प्रथम पुरस्कालर – पुदुवाई वाणी, पांडिचेरी के पांडिचेरी विश्वतविद्यालय द्वारा संचालित, ‘’उंगलाई थेड़ी’’ कार्यक्रम के लिए

द्वितीय पुरस्काएर – रेडियो बेनजीजर, केरल के कोल्लिम हॉस्पिटल सोसायटी द्वारा संचालित, ‘’एनीक्कचम प्रयाननदोरू कथा’’ कार्यक्रम के लिए

तृतीय पुरस्का<र – रूदि नो रेडियो, अहमदाबाद के सेवा अकादमी, ‘’कागज कमदार’’ कार्यक्रम के लिए

सामुदायिक कार्य पुरस्का्र

प्रथम पुरस्का्र – रेडिया मीडिया विलेज, केरल के कोट्टायम स्थित सेंट जॉसफ कॉलेज ऑफ कम्युवनिकेशन, ‘’थनाल’’ कार्यक्रम के लिए

द्वितीय पुरस्कासर – रूदि नो रेडियो, अहमदाबाद के सेवा अकादमी द्वारा संचालित, ‘’सूचना का अधिकार’’ कार्यक्रम के लिए

तृतीय पुरस्काोर – सीएमएस रेडियो, लखनऊ के गोमती नगर स्थित सिटी मांटेसरी स्कूोल द्वारा संचालित ‘’रौशन हुआ जहां’’ कार्यक्रम के लिए

स्थािनीय संस्कृदति संवर्धन पुरस्कारर

प्रथम पुरस्काार – किशनवाणी सिरोंज, एम.पी के सिरोंज स्थित इंडियाज सोसायटी ऑफ एग्री बिजनेस प्रोफेसनल्सि द्वारा संचालित, ‘’हमारे कलाकार’’ कार्यक्रम के लिए

द्वितीय पुरस्कालर – निलादनी सीआर, बंगलौर के दिव्यायज्योंति विद्या केंद्र द्वारा संचालित, ‘’जनपदलोका’’ कार्यक्रम के लिए

तृतीय पुरस्काकर – सीएमएस रेडियो, लखनऊ के गोमती नगर स्थित सिटी मांटेसरी स्कूकल द्वारा संचालित, ‘’कम्युलनिटी का कमाल: एकता- रामलीला’’ कार्यक्रम के लिए

सतता मॉडल
पुरस्कामर

प्रथम पुरस्कार – रेडियो मात्तोरली, वयानंद, सामाजिक सेवा सोसायटी, वयानंद, केरल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 3 =