Categoryप्रिंट मीडिया


हिंदी का स्वाभिमान बचाने समाचार-पत्रों का शुभ संकल्प


-लोकेन्द्र सिंह- समाचार माध्यमों में अपनी अस्मिता की लड़ाई लड़ रही हिंदी के लिए सुखद अवसर है कि मध्यप्रदेश के हिंदी के समाचार-पत्रों ने हिंदी Continue Reading


सर्चलाईट ऐसे बन गया हिंदुस्तान अखबार


पुष्य मित्र,पत्रकार वह गौरवशाली अख़बार “बिहारी”- #चंपारण की कहानी एक आंदोलन भर की कहानी नहीं है, यह बिहार की गौरवगाथा भी है। कैसे कुछ किसानों Continue Reading


इंडियन एक्सप्रेस ने बताया, अखबार के सामने बौने हैं न्यूज़ चैनल


ख़बरों की दुनिया में अखबारों के सामने टीवी न्यूज़ की हैसियत नासमझ बच्चे से ज्यादा कुछ नहीं. टीवी न्यूज़ का काम है उछलना,कूदना,शोर मचाना और Continue Reading


बिहार में पत्रकारिता का वीभत्स चेहरा !


पत्रकार पुलिस की नजदीकियों का फायदा उठाते हैं और पुलिस के हाथोंराजनीतिक कार्यकर्ताऔर नेता को डंडा खिलवाने और फर्जी आरोप में जेल भिजवाने का ठेका Continue Reading