BBC के सर्वे में हिंदुओं का प्रिय भजन,जानेंगे तो चौंक जायेंगे

1
1659
BBC के सर्वे में हिंदुओं का प्रिय भजन,जानेंगे तो चौंक जायेंगे
BBC के सर्वे में हिंदुओं का प्रिय भजन,जानेंगे तो चौंक जायेंगे

बीबीसी ने पुरी दुनिया में रहने वाले 30 लाख हिंदुओं पर एक सर्वे कराया था कि हिंदुओं का सबसे प्रिय भजन कौन सा है ? इस सर्वे से जो परिणाम निकल कर सामने आया, वह करारा जबाब है उन धर्म के ठेकेदारों का जो हिन्दु मुस्लिम एकता के बीच दीवार खड़ी करते हैं ! 30 लाख हिंदुओं ने जिन 10 भजनों का चयन किया उनमें से 6 ‘शकील बदायुनी’ के लिखे हुए हैं, और 4 ‘साहिर लुधियानवी’ के लिखे हुए हैं ! उन 10 के 10 भजनों में संगीत हैं ‘नौशाद साहब’ का ! उन सभी 10 भजनों को आवाज़ दिया हैं ‘रफी साहब’ ने ! ये 10 भजन ‘महबूब अली खान’ की फिल्मों में हैं, और इन 10 भजनों पर अभिनय किया हैं ‘यूसुफ खान’ उर्फ दिलीप कुमार ने !

यह जानकारी वर्तमान समय में जरुरी थी क्योंकि चुनावों में साम्प्रदायिकता कि आग लगाकर भाईचारे को रौंदती धार्मिक उन्माद की हवा जो लोग आज चला रहे हैं उन्हें यह जानना चाहिए कि धर्मनिरपेक्षता की भावना भारतीयों के नस-नस में रची बसी है और उसे साम्प्रदायिकता की हवाओं के झोंको से उड़ाया नहीं जा सकता !

ज़रा गौर फरमाइये –
मन तडपत हरि दर्शन को आज
गीतकार : शक़ील बदायुंनी
गायक : मोहम्मद रफी
संगीतकार : नौशाद
फिल्म : बैजू बावरा (1952)
.
इंसाफ का मंदिर है, ये भगवान का घर है
गायक -मोहम्मद रफी
संगीत : नौशाद
गीतकार : शकील बदायुंनी
फिल्म -अमर (1954)
.
हे रोम रोम में बसने वाले राम
गीतकार : साहिर लुधियानवी
गायक : आशा भोसले, रफी
फिल्म : नीलकमल (1968)
.
ओ पालनहारे निर्गुण और न्यारे
गीतकार – जावेद अख्तर
संगीतकार :A. R. Rahman
फिल्म – लगान (2001)
.
जय रघुनन्दन जय सियाराम
गायक: मोहम्मद रफ़ी
गीतकार: शक़ील बदायुंनी
फिल्म -घराना (1961)
.
आना है तो आ राह में
गीतकार – साहिर लुधियानवी
संगीत – ओ पी नय्यर, खैयाम साहब
गायक – मोहम्मद रफ़ी
फिल्म – नया दौर (1957)
.
जान सके तो जान, तेरे मन में छुपे भगवान
गीतकार – जांनिसार अख्तर
संगीत – ओ पी नय्यर
गायक – मोहम्मद रफी
फिल्म – उस्ताद (1957)

(Sameer Abbas Zaidi की वॉल से साभार)

1 COMMENT

  1. Sir, thank you for sharing this information. But there are certain mistakes which I would like to point out. As you said in your introduction, all songs are composed by Naushad Sahab. It is not correct, as some other composers like OP Nayyar Sahab and Ravi jee. Naya Daur (1957) music composer is O P Nayyar Sahab. You have mentioned as OPN and Khayyam Sahab. Please rectify.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen + fourteen =