अंजना कश्यप असमंजस में क्यों डाल रही, अब बता भी दीजिए !

1
179




anjana-kashyapअंजना कश्यप आजतक की प्रमुख एंकर हैं. अबतक हम यही जानते थे और शायद आप भी ऐसा ही समझते होंगे. लेकिन पिछले दो दिन से भारी असमंजस की स्थिति है.

असमंजस की स्थिति तब पैदा हुई जब दिल्ली में सामूहिक दुष्कर्म मामले में आजतक ने दस महिला रिपोर्टरों की टीम को दिल्ली की सड़कों पर उतारा. उद्देश्य दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था की खामियों को उजागर करना और महिलाओं की सुरक्षा के हिसाब से आंकलन करना.

ऐसी ही एक इलाके की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते हुए अंजना कश्यप उस समय हतप्रभ रह गयी जब कुछ मनचलों ने चुहलबाजी की कोशिश की. लेकिन कैमरा देख तुरंत रफूचक्कर हो गए.

दरअसल यह किसी तरह की पत्रकारिता तो नहीं थी लेकिन चुकी ऐसे मौके पर ये घटना घटी और उसका विजुअल भी रिकॉर्ड हो गया तो आजतक ने इसे खूब दिखाया और भुनाया.

मामला संसद तक में उठ गया और एक बारगी तो दुष्कर्म मामले में पीड़ित लड़की से भी ज्यादा बड़ी खबर बन गयी. अंजना कश्यप की प्रसिद्धि में भी इजाफा हुआ.

आजतक जो पहले से ही इस खबर में आगे था, इसके बाद और ज्यादा आगे हो गया. लेकिन एक असमंजस की स्थिति पैदा हो गयी.

असमंजस की वजह
अंजना को लेकर दो चैनलों की दावेदारी को लेकर है. आजतक की एंकर – रिपोर्टर हैं . ये तो हम जानते – मानते हैं. लेकिन उसी ग्रुप (टीवी टुडे ग्रुप) के दूसरे चैनल हेडलाइन्स की रिपोर्टर अंजना कब से बन गयी?

दरअसल अंग्रेजी चैनल हेडलाइन्स टुडे भी अपने चैनल पर वही फूटेज दिखाकर यह दावा करता नज़र आया कि हेडलाइन्स टुडे की रिपोर्टर के साथ छेड़खानी. अब बताइए कि हेडलाइन्स टुडे पर बतौर संवाददाता आपने अंजना कश्यप को कितनी बार अंग्रेजी में गिटिर – पिटिर करते देखा है?

माना कि आजतक और हेडलाइन्स टुडे एक ही ग्रुप के चैनल हैं और एक ही जगह और एक ही इन्फ्रास्ट्रकचर से चलते हैं. लेकिन दोनों के दर्शक अलग – अलग हैं. दोनों का स्क्रीन है. दोनों के चैनल हेड अलग है. ठीक उसी तरह दोनों के एंकर – रिपोर्टर भी अलग हैं. ऐसे में अंजना कश्यप के नाम पर हेडलाइन्स टुडे का अपने दर्शकों से ये छलावा करने की क्या जरूरत ?

हेडलाइन्स टुडे इस खबर को ‘सहयोगी चैनल आजतक की रिपोर्टर अंजना कश्यप के साथ रिपोर्टिंग के दौरान छेड़खानी’ कहकर भी चला सकते थे. इससे उनकी स्टोरी का प्रभाव कम नहीं होता और न दर्शक असमंजस में पड़ते कि अंजना हेडलाइन्स टुडे की संवाददाता हैं या फिर आजतक की एंकर – रिपोर्टर?

बहरहाल बात बड़ी नहीं, लेकिन इतनी छोटी भी नहीं. फर्ज कीजिये कि हेडलाइन्स टुडे की किसी रिपोर्टर के साथ ये घटना घटी होती तो क्या आजतक इसी अंदाज में खबर चला सकता था कि आजतक की रिपोर्टर के साथ छेड़खानी. मतलब कि हेडलाइन्स टुडे की रिपोर्टर को आजतक अपनी रिपोर्टर बनाकर आजतक पर पेश कर सकता था?

(एक दर्शक की नज़र से )

 




1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 − eleven =