माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय का पूर्व विद्यार्थी सम्मेलन 15 अक्टूबर को

0
532




MK-300-X-250भोपाल, 13 अक्टूबर। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय अपने रजत जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में बृहद स्तर पर पूर्व विद्यार्थी सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। यह आयोजन 15 अक्टूबर को रविन्द्र भवन में होगा। सम्मेलन के मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार एवं राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के अध्यक्ष बल्देव भाई शर्मा, विशिष्ट अतिथि विश्वविद्यालय के संस्थापक महानिदेशक एवं वरिष्ठ पत्रकार राधेश्याम शर्मा, मुख्य वक्ता राज्यसभा टीवी के कार्यकारी निदेशक राजेश बादल उपस्थित होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति प्रो. बृज किशोर कुठियाला करेंगे। इस अवसर पर विद्वानों से संवाद के साथ ही पूर्व विद्यार्थी भी अपनी सफलता की कहानी सबके साथ साझा करेंगे। सम्मेलन का शुभारम्भ सुबह 11 बजे से होगा। इसके पहले पंजीयन सुबह 10:30 बजे प्रारंभ हो जाएगा। शाम को 6 बजे से देश के पहले संस्कृत बैंड ‘ध्रुवा’ की रोचक प्रस्तुति होगी। सांस्कृतिक कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ‘चाणक्य’ के रूप में प्रख्यात एवं जाने-माने फिल्म निर्देशक डॉ. चन्द्रप्रकाश द्विवेदी होंगे।




माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय की अब तक की यात्रा स्वर्णिम रही है। विश्वविद्यालय ने 25 वर्षों में प्रगति के नए आयाम प्राप्त किए हैं। संचार के इस युग में कुशल संचारकों की आवश्यकता को विश्वविद्यालय पूरा कर रहा है। यहाँ के विद्यार्थी देशभर के प्रमुख मीडिया एवं संचार के संस्थानों में प्रमुख पदों पर कार्यरत हैं। विद्यार्थियों की सफलता की कहानियाँ स्वयं ही विश्वविद्यालय के विकास की परिचायक हैं। रजत जयंती वर्ष जैसे महत्त्वपूर्ण और हर्ष के अवसर पर विश्वविद्यालय ने अपने सभी पूर्व विद्यार्थियों को एकत्र करने का निर्णय लिया है। पूर्व विद्यार्थी सम्मेलन में उद्घाटन समारोह के बाद विद्यार्थियों के लिए खुला सत्र, चर्चा सत्र और समूह सत्रों का आयोजन किया जाएगा। ताकि सभी विद्यार्थी अपनी स्मृतियों को ताजा कर सकें, मिलजुल सकें और एक-दूसरे से परिचित हो सकें। सम्मेलन में शामिल होने के लिए ऑनलाइन पंजीयन के माध्यम से बड़ी संख्या में विद्यार्थियों के आने की सूचना है। विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के 1991 से 2016 तक के विद्यार्थी देशभर से भोपाल पहुँच रहे हैं।

‘रजत पथ’ का विमोचन : विश्वविद्यालय के रजत जयंती वर्ष के अवसर पर पूर्व विद्यार्थियों के अनुभवों और स्मृतियों पर आधारित पुस्तक ‘रजत पथ’ भी तैयार की गई है। इस पुस्तक का विमोचन भी पूर्व विद्यार्थी सम्मेलन में किया जाएगा।

संस्कृत बैंड की आकर्षक प्रस्तुति : रविन्द्र भवन के मुक्ताकाश मंच पर शाम 6 बजे से सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। जिसमें आकर्षण का केन्द्र होगा, संस्कृत बैंड ‘ध्रुवा’। यह देश का पहला और एकमात्र संस्कृत बैंड है। ध्रुवा की प्रस्तुतियों की देशभर में चर्चा है। सांस्कृतिक कार्यक्रम में नगर के गणमान्य नागरिक भी उपस्थित रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 3 =