दीपक शर्मा और आजतक के चैनल हेड सुप्रिय प्रसाद बधाई के पात्र

2
446

सलमान खुर्शीद की प्रेस कॉंफ्रेंस अंग्रेजी में एक कहावत है- Power corrupts and absolute power corrupts absolutely…देश के कानून मंत्री सलमान खुर्शीद को कल उनके घर पर प्रेस से मुखातिब होते जिन लोगों ने भी देखा, वो ये बताने के लिए काफी है कि सत्ता किस तरह अपने अहंकार में चूर होती है…’आज तक’ चैनल के ‘ऑपरेशन धृतराष्ट्र’ में दिखाए गए तथ्यों पर अगर पीएम मनमोहन सिंह और यूपीए की हेड सोनिया गांधी धृतराष्ट्र बने हुए हैं और ‘संजय बने सलमान’ पर यकीन करके पूरी ‘महाभारत’ को समझ रहे हैं तो सिर्फ इसलिए कि अपने एक ‘वफादार सिपहसालार’ को आखिरी दम तक बचाया जाए…चाहे उस सिपहसालार ने कितना भी बड़ा ‘घोटाला’ क्यों न किया हो.

सलमान के ट्रस्ट ने अनियमितता की है या नहीं, ये बहुत जल्द देश के सामने आ जाएगा लेकिन पूरे मामले को जिस तरह कानून मंत्री ने हैंडल किया, वह शर्मनाक है. इसे कहते हैं कि एक झूठ को सच साबित करने के लिए आप सौ झूठ और बोलिए…और फिर तानाशाह की तरह व्यवहार करिए…क्या सलमान खुर्शीद देश को ये बताएंगे कि जिन आरोपों पर सफाई देने के लिए वे पीसी कर रहे थे, उस पीसी से TV Today group के Reporters को बाहर निकल जाने की बात वो किस अधिकार और हक से कह रहे थे??? एक कानून मंत्री को क्या इतना भी नहीं मालूम कि लोकतंत्र में देश का हर नागरिक उनसे सवाल पूछ सकता है…अगर उन्हें ये नहीं मालूम तो उन्हें देश का कानून मंत्री बने रहने को कोई हक नहीं.

दूसरी बात, क्या उन्हें सिलसिलेवार तरीके से उन आरोपों का जवाब नहीं देना चाहिए था, जो उन पर लग रहे हैं???!!! उन सवालों के जवाब से मुंह चुराकर वे यही तो बता रहे थे कि चोर की दाढ़ी में तिनका होता है…अगर नहीं तो फिर वे सिर्फ अपनी ही क्यों कहना चाह रहे थे…क्या वह जो बोलेंगे, वही परम सत्य होगा..???!!!


तीसरी बात, उन्हें ये कहने का हक किसने दिया कि अरविंद केजरीवाल गटर के कीड़े हैं…???!!! ये बात कहकर सलमान ने ये साबित कर दिया कि वे देश का कानून मंत्री तो क्या, किसी सरकारी विभाग में चपरासी बनने के लायक भी नहीं हैं…क्या उन्हें इतनी भी समझ नहीं कि लोकतंत्र में कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक पद पर आसीन किसी भी व्यक्ति की कारस्तानियों पर सवाल पूछ सकता है..!!! अरविंद के कार्यकलापों से आपकी असहमति हो सकती है लेकिन वो गंदी नाली के कीड़े कैसे हो गए और आप First class citizen कैसे हो गए…अरे, आप तो आम जनता के सेवक हैं कानून मंत्री जी…और जनता को गाली देकर आपने संविधान और लोकतंत्र का अपमान किया है..फिर भी लोग कहते हैं सलमान खुर्शीद बड़े तहजीब वाले आदमी हैं..आपकी हरकतों से तो ऐसा कतई नहीं लगा…कम से कम अपने नाना मरहूम डॉ जाकिर हुसैन साहब का तो ख्याल कर लिया होता आपने…क्यों उनके नाम को रुसवा कर रहे हैं…???

चौथी बात, इस पूरे प्रकरण में पूरी शिद्दत से अपनी खबर पर कायम रहने के लिए ‘आज तक’ की पूरी टीम, खास करके Editor Investigation दीपक शर्मा और आज तक के हेड सुप्रिय प्रसाद जी को बधाई, जो पूरी तैयारी के साथ मैदान में उतरे और सत्ता की कारस्तानियों को चैलेंज किया…निर्भीक होकर उसका पर्दाफाश किया…और बधाई India Today group के मालिक अरूण पुरी जी को भी, जो अपनी टीम के साथ खड़े हैं…

आपको अंदाजा नहीं होगा कि जब आप इस तरह की खबर छापते-दिखाते हैं, तो सत्ता आप पर किस-किस तरह के दबाव डालती है…धमकाती है…डराती है…लेकिन उन्हें झेलकर सत्ता का मुकाबला करना वाकई में एक सुखद अनुभूति है..आप एक शहर के डीएम-एसपी के खिलाफ खबर छाप दीजिए तो अखबार का higher management और मालिक लोग interfere करने लगते हैं…खबर को सॉफ्ट करने का आदेश सुना देते हैं..या फिर ऐसा करने की धमकीभरी नसीहत दे डालते हैं…फिर ये तो केंद्र सरकार के एक पावरफुल मंत्री और गांधी परिवार के loyal सलमान खुर्शीद की कारस्तानियों का गुलदस्ता है…मैं अंदाजा लगा सकता हूं कि back door से केंद्र सरकार की तरफ से किस-किस तरह के दबाव बनाए जा रहे होंगे या बनाए गए होंगे…

लेकिन आखिर में जीत सत्य की ही होती है…हर हाल में…’सत्यमेव जयते’…मुझे इस बात की बेहद खुशी है कि हमारे देश का मीडिया अभी इतना कमजोर नहीं हुआ कि सत्ता उसे झुका सके, कुचल सके, मिटा सके. जो सच है, वो सबके सामने आएगा ही. और हां, अगर सलमान खुर्शीद निर्दोष साबित हुए, तो संबंधित चैनल को उनसे माफी मांगने से भी कोई गुरेज नहीं होना चाहिए और उस खबर को भी उतने ही prominent तरीके से दिखाया जाना चाहिए…लेकिन ऐसे आसार कम ही हैं कि खबर गलत हो…आज तक चैनल और उसकी पूरी टीम अपनी विश्वसनीयता के लिए जानी जाती है…सो अगर सलमान खुर्शीद बौखलाए हुए हैं तो इसमें कोई अचरज नहीं…ठीक ही कहा गया है- झुठ के पांव नहीं होते. ( पत्रकार नदीम अख्तर  के फेसबुक प्रोफाइल से साभार)

 

2 COMMENTS

  1. Sir/madam
    maharashtra main kopargaon ke vidhayak Mr Ashok kale aur unke parivar main (wife,sister,mother&father) ne daliton ki silling ki jamin hadpi iske sab document aur visual hai .
    gautam bank aur sugar co oprative factory main kia hua bhrashtrachar ke sab document aur visual hai .
    aur sari bhrashtrachar ki document aur visual hai please respect this news on contact me.9545139266

  2. Sir/madam
    maharashtra main kopargaon ke vidhayak Mr Ashok kale aur unke parivar main (wife,sister,mother&father) ne daliton ki silling ki jamin hadpi iske sab document aur visual hai .
    gautam bank aur sugar co oprative factory main kia hua bhrashtrachar ke sab document aur visual hai .
    aur sari bhrashtrachar ki document aur visual hai please respect this news on contact me.9545139266

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight − six =